Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

हामिद अंसारी की पत्नी बोलीं- ॐ के जाप से मिलती है ऑक्सीजन!

 Abhishek Tripathi |  2016-05-23 11:40:48.0

a1


तहलका न्यूज ब्यूरो
अलीगढ़. देश के उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी सलमा अंसारी ने कहा कि इंटरनेशनल योगा दिवस पर ॐ का उच्चारण करना कतई गलत नहीं है। उन्होंने इस बात का समर्थन करते हुए कहा कि ॐ के उच्चारण से ऑक्सीजन मिलती है। इस बात का विरोध करना पूरी तरह से गलत है। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं योग करती हूं और मुझे इसका लाभ भी हुआ है। इस के आगे उन्होंने कहा कि यदि मैं योग नहीं करती तो अब तक मेरी हड्डी टूट गई होती।


यूजीसी के वरिष्ठ अधिकारी ने अपने पत्र में कहा है कि मैं आपसे आग्रह करता हूं कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए कार्य योजना बनाएं और योग दिवस समारोहों में अपने विश्वविद्यालय के काफी संख्या में छात्रों की भागीदारी सुनिश्चित करें। पत्र के साथ आयुष मंत्रालय का योग करने के लिए 45 मिनट का प्रोटोकॉल भी जोड़ा गया है।


वहीं आयुष मंत्रालय ने कहा कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग सत्र से पहले 'ओम' और अन्य वैदिक मंत्रों का जाप अनिवार्य नहीं बल्कि ऐच्छिक है। आयुष मंत्रालय के संयुक्त सचिव अनिल कुमार गनेरीवाला ने कहा कि योग सत्र से पहले 'ओम' का जाप करने की बाध्यता नहीं है। यह बिल्कुल ऐच्छिक है, कोई चुप भी रह सकता है। कोई इस पर आपत्ति नहीं करेगा।


अभिनेता अनुपम खेर का कहना है कि योगा विश्व को हमारी देन है। योगा के साथ ओम जुड़ा हुआ है। जिसको टिप्पणी करनी है वो भारत माता की जय पर भी टिप्पणी करते हैं। भाजपा नेता ओम चौरसिया ने कहा कि स्वाभाविक है कि ॐ क्रिया इसीलिए किया जाता है कि उसका अपना साइंटिफिक महत्व है। ऐसा नहीं कि साइंस पहले डेवलप नहीं था। योग करने वाले विवाद नहीं करते, यह राजनीति वाले करते है। इस देश की अच्छी चीज दुनिया एक्सेप्ट कर रही है। इसमें राजनीति नहीं करें। ॐ कोई पूजा पद्धति का मामला नहीं है। वो तो साइंटिफिक क्रिया है। मुझे लगता है इस बार पूरी दुनिया में लोग ॐ से ही शुरुआत करेंगे।


मुस्लिम धर्मउपदेशक मुफ्ती मुकर्रम का कहना है कि ॐ का शब्द अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत में आता है। हम अल्लाह की इबादत के अलावा और किसी की इबादत कर ही नहीं सकते। योग में कुछ आसन ऐसे हैं, जिसमें अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत करनी होती है। इसलिए मुसलमान य़ोग से दूर रहते हैं और उन्हें मजबूर नहीं किया जा सकता। भारत के प्रति हम वफादार हैं, इसलिए ऐसी छोटी बातों पर बवाल नहीं होना चाहिए।


कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने कहा कि ये दुर्भाग्य की बात है। ओम शब्द का बार-बार उच्चारण करना एक धर्म से जुड़ा माना जाता है तो दूसरे धर्म के लोग उसे फॉलो नहीं करेंगे। आपने इंटरनेशनल योगा डे को एक धर्म का कर दिया है और बाकी लोगों को छोड़ दिया है।


 

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top