Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

हैलट के डाक्टर ने नहीं किया बच्चे का इलाज, मौत

 Sabahat Vijeta |  2016-08-30 17:48:34.0

hailat


लखनऊ. कानपुर के हैलट अस्पताल में जिस प्रकार एक मासूम बच्चे को इलाज से मना करने एवं दूसरे अस्पतालों तक गंभीर रूप से बीमार बच्चे को ले जाने के लिए एम्बुलेंस की मांग करने पर उसे उपलब्ध न कराने कारण गंभीर बीमार बच्चे के पिता द्वारा उसे अपने कंधे पर लेकर दूसरे अस्पताल में इलाज कराने के लिए ले जाते हुए सड़कों पर दौड़ना पड़ा और इलाज मिलने में हुई देरी के चलते बच्चे की जान चली गयी, यह घटना प्रदेश सरकार की संवेदनहीनता और झूठे दावों की पोल खोलती है। वहीं डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनियां जैसी गंभीर बीमारियों से आम जनता चिकित्सा के अभाव में दम तोड़ रही है और प्रदेश सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है। यह बेहद शर्मनाक है एवं निन्दनीय है।


प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अमरनाथ अग्रवाल ने आज जारी बयान में कहा कि जिस प्रकार प्रदेश के मुख्यमंत्री 108 एम्बुलेंस सेवा एवं स्वास्थ्य सेवाओं का ढिंढोरा पीटते नहीं थकते हैं और रोजाना इस सेवा का झूठ जनता के सामने आ रहा है, सरकार की संवेदनहीनता और लापरवाही का खामियाजा आम जनता भुगतने के लिए मजबूर है। मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री सहित शासन एवं प्रशासन के अधिकारी मनमानी पर अमादा हैं और ऐसी दुःखद घटनाओं का भी संज्ञान नहीं ले रहे हैं, इसका अंदाजा कानपुर में हुई इस घटना से लगाया जा सकता है।


श्री अग्रवाल ने कहा कि कानपुर की यह घटना सिर्फ इलाज में लापरवाही मात्र नहीं है बल्कि सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों द्वारा किये जा रहे आपराधिक कृत्य की श्रेणी में आता है। इतना ही नहीं प्रदेश की राजधानी लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में आये दिन इस प्रकार की घटनाएं सामने आती हैं जब किसी मरीज को खुले आसमान में रहने के लिए मजबूर किया जाता है एवं प्रसूताओं को अस्पताल में भर्ती नहीं किया जाता जिसके चलते उन्हें सड़कों पर प्रसव के लिए विवश होना पड़ रहा है। इन घटनाओं से यह साफ होता है कि प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार को आम जनता की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं रह गया है। यही कारण है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त है, जंगलराज कायम है, रेप, हत्या, लूट, जमीनों पर कब्जे आदि की आपराधिक घटनाएं बेतहाशा बढ़ रही हैं। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने भी कई बार इसे स्वीकार भी किया है और साथ ही सरकार के वरिष्ठ मंत्री मोहम्मद आजम खां ने जिस प्रकार सामूहिक बलात्कार पीड़ितों के बारे में दिये गये गये बयान निन्दनीय है। कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि प्रदेश सरकार अविलम्ब प्रदेश के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी अस्पतालों में आम जनता के लिए चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित कराये एवं कानपुर की घटना में दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top