Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इसलिये इस्लाम से खारिज हुआ हाफ़िज़ सईद

 Sabahat Vijeta |  2016-08-18 16:44:03.0

Hafiz Saeed


बरेली. लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक, आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का मुखिया और 26/11 हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद के खिलाफ बरेली की दरगाह आला हजरत की तरफ से फतवा जारी किया गया है. इस फतवे में उसे इस्लाम से खारिज कर दिया है. इस्लाम से खारिज होने के बाद उसकी तकरीर सुनना भी हराम हो गया है.


दरगाह आला हजरत के मुफ़्ती सलीम नूरी ने यह फतवा जारी किया है. सलीम नूरी से राजस्थान के मोइनुद्दीन ने यह सवाल पूछा था की पकिस्तान के प्रमुख आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का मुखिया हाफिज सईद अल्लाह और रसूल की शान में गुस्ताखी करता है और उसे सही मानता है. वह गुमराहकुन, अकायद और कूफ़ी नजरियात का प्रचारक और प्रसारक है. वह लोगों को खून खराबे के लिये उकसाता है. ऐसे में क्या उसे मुसलमान मानना और उसकी तक़रीर सुनना जायज़ है.


इस सवाल के जवाब में फतवा जारी करते हुए दरगाह आला हजरत के मुफ्ती सलीम नूरी ने कहा कि अल्लाह और रसूल की शान में गुस्ताखी करने वाला इस्लाम से ऐसे खारिज है कि जो उसको मुसलमान माने वह भी काफिर है. ऐसे शख्स से किसी भी प्रकार का ताल्लुक रखना नाजायज और हराम है. उसकी तक़रीर सुनना तो बहुत दूर की बात है.


मुफ्ती सलीम नूरी ने इसके साथ ही यह भी कहा कि आतंकी विचारधारा रखने वाला हाफिज सईद आतंकी कार्रवाई से इस्लाम और मुसलमान को पूरी दुनिया में बदनाम और शर्मसार कर रहा है. मुसलमान ऐसे शख्स को मुसलमान ना मानें और इसकी किसी भी बात पर यकीन ना करें.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top