Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

राज्यपाल, मुख्यमंत्री और मायावती ने दी बकरीद की बधाई

 Sabahat Vijeta |  2016-09-12 15:09:50.0

akh-maya

तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने समस्त देशवासियों व ख़ासकर उत्तर प्रदेश के मुस्लिम समाज के लोगों को ईद-अल-अज़हा (बक़रीद) के त्योहार की हार्दिक बधाई व दिली शुभकामनायें दी हैं.


ram-naik


उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने समस्त प्रदेशवासियों विशेषकर मुस्लिम भाई-बहनों को ईद-उल-अजहा (बकरीद) के अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएँ देते हुए उनके सुखमय जीवन की कामना की है. उन्होंने कहा है कि ईद-उल-अजहा का पर्व बलिदान का पर्व है और सभी को गरीबों तथा जरूरतमंदों की सहायता करने के लिये तत्पर रहने की प्रेरणा देता है. उन्होंने आशा व्यक्त की कि ईद-उल-अजहा का पर्व देश में भाईचारा, सहयोग और शांति को अधिक मजबूती प्रदान करेगा.


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ईद-उल-अज़हा (बकरीद) पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई देते हुए कहा है कि ईद-उल-अज़हा का त्यौहार सभी को मिल-जुल कर रहने तथा सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की प्रेरणा प्रदान करता है. उन्होंने इस त्यौहार को शांति व आपसी सद्भाव के साथ मनाने की अपील की है.


पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि वास्तव में दुनिया भर के मुसलमानों का यह त्योहार अल्लाह की राह में उस अज़ीम कुर्बानी की याद में मनाया जाता है और उसी परम्परा को निभाने की कोशिश की जाती है जिसकी बुनियाद हज़रत इब्राहिम (अल.) और उनके बेटे हज़रत इस्माइल (अल.) ने मक्का मुकर्रमा में आज से सैकड़ों वर्ष पहले रखी थी और जिस मौके़ पर दुनिया भर के मुसलमान हर वर्ष हज के फ़र्ज़ की अदायगी करते हैं.


मायावती ने कहा कि मुस्लिम परिवार के वे लाखों लोग ख़ास बधाई के पात्र हैं जिनके परिवार के सदस्यों ने इस मौके़ पर हज का फरीज़ा अदा किया है.


उन्होंने कहा कि आम मुसलमानों के लिये ईद-अल-अज़हा का त्योहार आपसी मोहब्बत, बराबरी, आपसी मेल-मिलाप के साथ-साथ कुर्बानी के जज़्बे की याद दिलाता है. इस मुबारक मौके़ पर मुल्क की तरक़्क़ी व ख़ुशहाली के साथ-साथ सामाजिक सद्भावना की भी ख़ास दुआ की ज़रूरत है ताकि मुल्क में अमनो-अमान रहे और सभी लोग साम्प्रदायिकता की ज़हर से दूर, पूरे आत्म-सम्मान व स्वाभिमान के साथ अपना जीवन गुज़ार सकें.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top