Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चरण सिंह डिग्री कालेज पर सरकार ने लगाए 100 करोड़, फिर भी सपा की जागीर

 Vikas Tiwari |  2016-09-28 11:32:18.0


चौधरी चरण सिंह डिग्री कालेज


तहलका न्यूज़ब्यूरो


लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि इटावा के चौधरी चरण सिंह डिग्री कालेज को सपा परिवार के लोगों ने अपनी एक जागीर की तरह से इस्तेमाल किया है।


सुप्रीम कोर्ट में यह तथ्य सामने आया है कि इस डिग्री कालेज को सपा परिवार के प्रमुख लोगों का एक ट्रस्ट चला रहा है, जिसे सन् 2003 में सपा सरकार ने ’’आकस्मिक निधि’’ से 100 करोड़ रुपये दिए थे। साथ ही, इसे अन्य प्रकार की भी सरकारी सहायता उपलब्ध करायी जाती रही है।


इस सम्बंध में न्यायालय द्वारा नियुक्ति जाँच अधिकारी का भी कहना है कि उस डिग्री कालेज मे सरकारी धन के जर्बदस्त इस्तेमाल होने के कारण उस शिक्षण संस्थान को सरकारी नियंत्रण में ले लेना चाहिये।  न्यायालय ने इस सम्बंध में प्रदेश की सपा सरकार को पाँच सप्ताह के भीतर फैसला लेने को कहा है तथा इस मामले की सुनवाई के लिये अगली तिथि दिनांक 07 नवम्बर तय की है।


मायावती ने  मुलायम सिंह यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि सभी जानते है की सपा सरकार में जब-जब मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्रि रहें है तब सरकारी धन को रेवड़ी की तरह अपने चहेते लोगों में बांटा गया है। उन्होंने ’मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष’ के करोड़ो रूपयों के दुरूपयोग का भी आरोप लगाया।


बसपा सुप्रीमो ने कहा कि इन मामलों में व्यापक भ्रष्टाचार की शिकायतों की जाँच बी.एस.पी. की सरकार ने करवाई थी तथा इस पूरे मामले में एक साथ कई एफ.आई.आर. विभिन्न ज़िलों में दर्ज हुई थी। लेकिन सरकार के बदल जाने के फलस्वरूप तथा सपा के सत्ता में आ जाने के कारण भ्रष्टाचार के इन मामलों को अंजाम तक नहीं पहुंचने दिया गया।


किन्तु अब सपा सरकार द्वारा सरकार की आकस्मिक निधि के पक्षपातपूर्ण व ग़लत इस्तेमाल का ऐसा गंभीर मामला न्यायालय के सामने साबित हुआ है जहाँ से सपा परिवार का बच पाना मुश्किल ही नहीं बल्कि असंभव लगता है।


उनहोंने कहा कि सपा सरकार को इस मामले की गंभीरता को समझते हुये अपना पारिवारिक मोह त्यागकर इटावा के चौधरी चरण सिंह डिग्री कालेज को तुरन्त ही सरकारी नियंत्रण में दे देना चाहिए।


साथ ही मायावती ने प्रदेश की जनता को आश्वासन दिया कि अगर बसपा सत्ता में आयेगी तो सरकारी धन के इस प्रकार की फ़िजूलख़र्ची एवं पक्षपातपूर्ण इस्तेमाल के सभी मामलों की जाँच कराकर दोषियों को कानून के कठघरे में खड़ा कर सख्त सजा दिलायेगी।


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top