Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

गीता, कुरान, बाईबिल के संदेश का सार एक है

 Sabahat Vijeta |  2016-07-09 17:22:21.0

gov-indresh




  • राज्यपाल ने ईद मिलन समारोह में शिरकत की


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज गांधी भवन सभागार में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच अवध प्रान्त द्वारा आयोजित ईद मिलन समारोह में शिरकत करके सभी को ईद की हार्दिक बधाई दी। इस अवसर पर मुख्य वक्ता इन्द्रेश कुमार, संयोजक रईस खाँ, ईद मनाने विशेष रूप से भारत आयी बांग्लादेश के पूर्व राष्ट्रपति जनरल इरशाद की पुत्री सुश्री ओननाना हुसैन सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।


राज्यपाल ने कहा कि रमजान के महीने में रोजा रखने से मन को पाक करने, संयम रखने तथा दूसरों का दर्द समझने का संदेश मिलता है। मोहम्मद साहब ने इंसानियत का पैगाम देते हुए कहा था कि यह पड़ोसी की जिम्मेदारी है कि उसका पड़ोसी भूखा न रहे। पड़ोसियों के दुःख-दर्द को अपना समझना चाहिए। यह विचार देश की तस्वीर बदल सकता है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में प्यार और भाईचारे का संदेश पहुँचाने की जरूरत है।


श्री नाईक ने कहा कि गीता, कुरान और बाईबिल के संदेश का सार एक है। भारत ने ‘वसुधैव कुटुम्बकम्‘ के माध्यम से पूरे विश्व को एक परिवार होने का परिचय दिया है। पड़ोसी देश बांग्लादेश में हुए आतंकी हमले से सभी दुःखी हैं। देश के लिए हमें खुशहाली के बीज बोना है। उन्होंने कहा कि आपसी प्रेम और सौहार्द से काम करें तभी आतंकवाद समाप्त होगा।

मुख्य वक्ता इन्द्रेश कुमार ने कहा कि मजहब के नाम पर लोग आपस में लड़ते हैं। मन के मैल को साफ करके समाज खूबसूरत बन सकता है। दूसरे मजहब की आलोचना नहीं सम्मान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज सबसे ज्यादा जरूरत प्यार, मोहब्बत और भाईचारे को बढ़ाकर नफरत मुक्त समाज के निर्माण की है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top