Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पॉलिटिकल लोग नहीं चाहते भारत-पाक दोस्त बने: गुलाम अली

 Tahlka News |  2016-04-25 17:23:38.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
वाराणसी, 25 अप्रैल. हिंदू संगठनों के विरोध के बीच गुलाम अली संकट मोचन मंदिर में ऑर्गनाइज संगीत समारोह में भाग लेने सोमवार को काशी पहुंचेे। उन्‍होंने भारत-पाकिस्तान के रिश्तों पर बोलते हुए कहा कि दोनों देशों की बड़ी ताकतें नहीं चाहती कि मुल्‍क के बीच प्‍यार बढ़े। उन्‍होंने कि कहा कि संगीत का न कोई सरहद है और न मजहब है, इसके जरिए ही मिठास घोली जा सकती है।


दोनों देशों के बीच आतंकवादी घटनाओं से कलाकार का कोई लेना देना नहीं है। मैं लाहौर में गाता हूं तो अमेरिका भी सुनता है। शि‍वसेना के लोगों को तहे दि‍ल से दुआ देता हूं कि ये लोग अच्‍छा सोचें। नफरत से नहीं, बल्‍कि प्‍यार से नजदीक आना चाहिए। वो मेरा विरोध करते हैं, लेकिन फि‍र भी मैं उनके लिए दुआ करता हूं।


विरोध कर रहे हैं कई हिंदू संगठन
- बता दें कि शिवसेना सहित कई हिंदू संगठन गुलाम अली के प्रोग्राम का लगातार विरोध कर रहे हैं।
- हिंदू युवा वाहिनी और हिंदू जाग्रति मंच ने डीएम राजमणि यादव को मेमोरेंडम दिया।
- हिंदू संगठनों के मुताबिक, गुलाम अली को काशी में आने से रोका जाए, क्योंकि उनके यहां आने से धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचेगी।
- इससे पहले शिवसेना गुलाम अली के विरोध में शहर में कई जगह पोस्टर लगा चुकी है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top