Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

गीली मिट्टी के रूपाकार हुई विमोचित

 Sabahat Vijeta |  2016-09-18 17:16:59.0

geeli-mitti
तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. मुम्बई की कवयित्री श्रीमती रीता दास राम के काव्य संग्रह गीली मिट्टी के रूपाकार का आज राजधानी के जयशंकर प्रसाद सभागार में लोकार्पण समारोह आयोजित किया गया. काव्य संग्रह का लोकार्पण सुपरिचित कवि नरेश सक्सेना, मंगलेश डबराल और लमही के संपादक विजय राय ने किया. यह समारोह शब्द्सत्ता ने आयोजित किया था.


इस मौके पर विजय विश्वास ने रीता दास राम की कविता चिड़िया का संगीतमय पाठ किया. डॉ. मुक्त टंडन ने इस मौके पर कहा कि उनकी हर कविता में ले है. वह कैनवस पर उकेरी गई कृति जैसा महसूस होती हैं. रीता दास ने निर्भया पर भी कविता लिखी है और अन्य विषयों को भी छुआ है. उनकी कविता में गतिशीलता है. वह कहीं बोझिल नहीं होने पाती.


लोकार्पण समारोह में नलिन रंजन सिंह, डॉ. निर्मल दर्शन, पंकज प्रसून, सुधाकर अदीब, बंधू कुशावर्ती सहित शहर के तमाम रचनाकार मौजूद थे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top