Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कांगेस का आरोप, दलितों के उत्थान के लिये मायावती संसद में नहीं उठाती सवाल

 Sabahat Vijeta |  2016-12-06 13:42:07.0

Mayawati


लखनऊ. भारत रत्न बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के निर्वाण दिवस पर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती का यह बयान कि कांग्रेस ने दलितों के लिए कोई काम नहीं किया न सिर्फ हास्यास्पद है बल्कि तथ्यात्मक रूप से भी असत्य एवं भ्रामक है.


प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता डॉ. हिलाल अहमद ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि दलितों, शोषितों एवं पिछड़ों के लिए यदि किसी भी राजनैतिक दल ने कोई कार्य किया है तो वह सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस है. यह अत्यधिक अफसोस की बात है कि बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों ने दलितों के लिए आज तक अपने घोषणापत्र में कोई भी वादा नहीं किया है. कांग्रेस पार्टी चुनौती देती है कि सुश्री मायावती ने यदि कोई भी कार्य दलितों के उत्थान के लिए किया हो तो वह उसका वर्णन करें, मात्र कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाकर वह इस बात से नहीं बच सकती हैं कि वह कभी भी दलित नेता के रूप में दलितों के उत्थान के लिए संसद में एक प्रश्न भी नहीं उठा पायीं.


यह कांग्रेस पार्टी की ही सरकार थी जिसने जमींदारी प्रथा को समाप्त कर लाखों की संख्या में दलितों को जमीनें दीं. नौकरियों में उन्हें आरक्षण दिया. बजट में विशेष प्रावधान करके दलितों के लिए अलग व्यवस्था की. दलितों के विरूद्ध किये जाने वाले अपराधों में त्वरित कार्यवाही करने हेतु भारतीय दण्ड संहिता में संशोधन कर दलितों के विरूद्ध हो रहे तमाम अत्याचारों को रोका जिसको स्वयं मायावती ने उ.प्र. में अपनी सरकार में निष्प्रभावी बनाया और आज वह अपने आपको दलितों का हितैषी बताती हैं जो एक भद्दा मजाक है.


डॉ. हिलाल अहमद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आज शौर्य दिवस मनाकर डॉ. भीमराव अम्बेडकर को एक बार पुनः अपमानित करने का कार्य कर रही है. यह कौन नहीं जानता है कि संविधान के निर्माण के कारण बाबा साहब के विरोध में उनके पुतले को रामलीला मैदान में आरएसएस ने फूंका था तथा संविधान का भी घोर विरोध किया था. आज भी भाजपा शासित प्रदेशों में दलितों के विरूद्ध लगातार हिंसक कार्यवाही हो रही है परन्तु भाजपा सरकार न तो इसे रोकने का प्रयास कर रही है और न ही दोषियों के विरूद्ध कोई भी कार्यवाही कर रही है.


प्रवक्ता ने कहा कि दलितों का जिस प्रकार से राजनैतिक दल विरोध कर रहे हैं उसको ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ने दलितों की ‘शिक्षा-सुरक्षा-स्वाभिमान’ की लड़ाई लड़ने हेतु बाबा साहब को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पूरे प्रदेश में यात्राएं निकाल रही है तथा अपने घोषणापत्र में दलितों को 8 वचन प्रदान किये हैं तथा सौ वर्ष से दलितों के हित में चली आ रही अपनी इस लड़ाई को आगे बढ़ाया है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top