Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अवसर की समता के लिए गवर्नर ने लिख दी महामहिम को चिट्ठी

 Sabahat Vijeta |  2016-11-02 15:46:46.0

prtap-chandra-gov


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. लोकतंत्र मुक्ति मोर्चा चुनाव में सभी प्रत्याशियों को समान अवसर उपलब्ध कराने की कवायद में लगा है. मोर्चा चाहता है कि स्वतंत्र और शुद्ध चुनाव के लिए सभी प्रत्याशियों को सामान अवसर देने के लिए मतपत्र से चुनाव चिन्ह हटाकर प्रत्याशी की फोटो लगा दी जाए. इस मांग पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक ने आज राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पत्र लिख दिया है. राज्यपाल इससे पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त को भी चिट्ठी लिख चुके हैं.


लोकतंत्र मुक्ति मोर्चा के संयोजक प्रताप चन्द्रा ने राज्यपाल से मुलाक़ात कर यह कहा था कि दलीय प्रत्याशी चुनाव से कई महीने पहले से अपने चुनाव चिन्ह का प्रचार करते रहते हैं जबकि निर्दलीय प्रत्याशी को चुनाव से 15 दिन पहले चुनाव चिन्ह मिलता है और वह उसका प्रचार नहीं कर पाता. इससे लोकतंत्र में सबको सामान अवसर नहीं मिलता. अगर ईवीएम से चुनाव चिन्ह हटाकर प्रत्याशी की तस्वीर लगा दी जाए तो मतदाता उसी को वोट देगा जिसे वह पहचानता होगा. इससे आम लोगों के बीच जाकर प्रत्याशी को काम करना मजबूरी हो जायेगी.


राज्यपाल ने इस बात से सहमति जताते हुए 24 अगस्त को मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखा था. आज राज्यपाल ने राष्ट्रपति को इस सन्दर्भ में चिट्ठी लिख दी है.


लोकतंत्र मुक्ति मोर्चा के संयोजक प्रताप चन्द्रा का कहना है कि उत्तर प्रदेश में अभी विधानसभा चुनाव की अधिसूचना नहीं जारी हुई है फिर भी दल प्रतिनिधि अपने आरक्षित चुनाव-चिन्ह हाथी, कमल, साईकिल इत्यादि को वाल पेंटिंग कर कई अन्य साधनों के साथ लगातार प्रचार प्रसार कर रहे हैं, परन्तु निर्दलीय प्रत्याशी को उसका चुनाव-चिन्ह नहीं मालूम है और उसे चुनाव तिथि के 15 दिन पहले चुनाव-चिन्ह दिया जायेगा तब वह प्रचार कर सकेगा और वो भी वाल पेंटिंग तो बिलकुल भी नहीं कर सकेगा. जबकि दल प्रतिनिधि तो अभी से प्रचार कर रहे हैं, ऐसे में संविधान द्वारा प्रदत्त “अवसर की समता” के अधिकार का हनन हो रहा है जिसकी रक्षा के लिए राज्यपाल राम नाईक से मुलाक़ात की थी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top