Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चुनावी दंगल में मायावती ने खेला यूपी के बंटवारे का दांव

 Utkarsh Sinha |  2017-02-27 12:13:10.0

चुनावी दंगल में मायावती ने खेला यूपी के बंटवारे का दांव

तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ. यूपी के दंगल के आखिरी चरणों के बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने सूबे में चार टूकडे करने का अपना पुराना दांव फिर खेल दिया है. मायावती ने रविवार को गोरखपुर में कहा था कि अगर प्रदेश में बसपा की सरकार आती है, तो वह उत्तर प्रदेश को पूर्वांचल समेत चार छोटे राज्यों में बांट देगी. पूर्वांचल का प्रमुख हिस्सा माना जाने वाला गोरखपुर विकास की दौड़ में काफी पीछे है. यहां छठे चरण के तहत आगामी चार मार्च को मतदान होगा और सतावे और अंतिम चरण में भी जिन जिलों में मतदान होना है वे भी पूर्वांचल के ही हिस्से हैं.

मायावती यह दांव 2012 के चुनावो के ठीक पहले भी खेला था और 2011 में अपने मुख्यमंत्रित्वकाल के दौरान उत्तर प्रदेश को पश्चिम प्रदेश, पूर्वांचल, बुंदेलखंड और अवध प्रदेश में बांटने का प्रस्ताव विधानसभा में पारित कराकर केंद्र के पास भेज दिया था जो अब भी लंबित है. मगर मायावती को उस चुनाव में इसका जरा भी फायदा नहीं मिला और समाजवादी पार्टी ने इस इलाके में मायावती को काफी पीछे छोड़ दिया था.

2012 के विधानसभा चुनाव में मायावती की हार के बाद से ही इस मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं हुयी. हालाकि भाजपा छोटे राज्यों के पक्षधर रही है मगर 2014 में केंद्र की सरकार पर काबिज होने के बाद भाजपा ने भी इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोला. सूबे के बंटवारे का शुरू से ही विरोध कर रही समाजवादी पार्टी भी इस मुद्दे पर एक शब्द नहीं बोल रही है.

भाजपा के चुनाव घोषणापत्र में अलग पूर्वांचल या बुंदेलखंड के गठन की बात तो नहीं कही गयी है, लेकिन इन दोनों ही क्षेत्रों के विकास के लिए बोर्ड बनाने का वादा जरूर किया गया है. सबसे दिलचस्प बात यह है कि अब तक हरित प्रदेश बनाने की मांग पुरजोर ढंग से उठाते रहे राष्ट्रीय लोकदल की जबान भी इस बार इस मुद्दे पर कोई हरकत नहीं कर रही है.

गोरखपुर में मायावती ने कहा कि अलग प्रदेश का गठन किये बगैर पूर्वांचल का विकास सम्भव नहीं है. अगर बसपा सत्ता में आती है, तो इस दिशा में प्रयास किये जायेंगे. उन्होंने कहा था कि इस चुनाव में आपके पास उस कांग्रेस, भाजपा और सपा को सजा देने का मौका है, जो अलग पूर्वांचल राज्य के गठन का विरोध कर रही हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top