Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

'साइकिल' मरम्‍मत करने वाले गरीब के बेटे को अखिलेश ने दिया टिकट, 'जय अखिलेश' के लग रहे नारे

 Abhishek Tripathi |  2017-01-25 10:00:34.0

तहलका न्यूज ब्यूरो
गाजीपुर. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी में कुछ ऐसे बदलाव किए हैं, जो इससे पहले कभी नहीं हुए। इसी का परिणाम है कि अखिलेश यादव ने गाजीपुर की जहूराबाद सीट से पूर्व मंत्री शादाब फातिमा का टिकट काट दिया और साइकिल की मरम्‍मत करने वाले मिस्‍त्री के बेटे महेंद्र चौहान को सपा से उम्‍मीदवार बनाया है। अखिलेश के इस फैसले से युवा समर्थकों में खुशी की लहर है जबकि पार्टी के वरिष्ठ नेता नाराज हैं।

अखिलेश यादव के इस फैसले के बाद समर्थक 'जय अखिलेश-जय अखिलेश' के नारे लगा रहे हैं। वहीं, पार्टी कार्यकर्ताओं ने बताया कि महेंद्र चौहान कोई बड़ा आदमी नहीं है। उसके पिता एक साधारण साइकिल मरम्‍मत करने का काम करते हैं। महेंद्र के पास टिकट दिलाने के लिए कोई पैरवी करने वाला भी नहीं है। महेंद्र की बस एक खासियत है कि वे अपने क्षेत्र में लोकप्रिय हैं।

गाजीपुर के मरदह कस्बे में साईकिल मरम्मत की दुकान चलाने वाले रामबचन चौहान बेहद मामूली आदमी हैं, लेकिन उनके बेटे महेन्द्र की राजनीति में गहरी दिलचस्पी है। महेन्द्र छात्र जीवन से ही राजनीति में हैं। उन्होंने मऊ स्थित डीएसवी कॉलेज के छात्रसंघ महामंत्री का चुनाव भी जीता था। लम्बे अरसे से महेन्द्र सपा के कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे, जिसका इनाम उन्हें सीएम अखिलेश यादव ने पार्टी का प्रत्याशी बना कर दिया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top