Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चुनाव पूर्व सर्वे में अखिलेश के गठबंधन को मिली बढ़त

 Avinash |  2017-01-30 17:53:05.0

चुनाव पूर्व सर्वे में अखिलेश के गठबंधन को मिली बढ़त


तहलका न्यूज़ ब्यूरो
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सूबे में सियासी माहौल गर्माया हुआ है . सभी राजनीतिक दल अपनी अपनी जीत का दावा ठोक रहे है. ऐसे में यह अनुमान लगाने के लिए कि आखिर यूपी के रण में किस पार्टी को जीत मिलेगी और किसे मायूसी एक प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल ने लोगों की राय जानने के लिए सर्वे किया है. इस सर्वे में यूपी की 65 विधानसभा क्षेत्रों के 6 हजार 481 लोगों से की राय ली गई.
बता दें कि एक ओर जहाँ सपा-कांग्रेस गठबंधन के बाद सपा के वोट प्रतिशत में वृद्धी हुई है वहीँ सीएम अखिलेश यादव की लोकप्रियता में कमी भी आई है. हालांकि यह अखिलेश यादव
अभी मुख्यमंत्री के रूप में लोगों के पहली पसंद बने हुए है.
उल्लेखनीय है कि पिछले साल दिसंबर महीने में किए गए सर्वे में अखिलेश यादव की लोकप्रियता 28 प्रतिशत थी जो अब दो प्रतिशत घटकर 26 प्रतिशत रह गई है. वहीँ मायावती की लोकप्रियता 21 प्रतिशत और राजनाथ सिंह की 03 प्रतिशत है.

मुस्लिम सपा के साथ
सपा के पारिवारिक झगड़े के बाद सबसे बड़ा सवाल मुस्लिम समुदाय को लेकर बना हुआ है. यह वोट बैंक सूबे में किसी भी पार्टी की जीत और हार के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. बीएसपी सुप्रीमो मायावती इस बार मुस्लिमों को आकर्षित करने की भरपूर कोशिश कर रही हैं. मगर अभी भी मुस्लिम वर्ग अखिलेश के ही साथ खड़ा नजर आ रहा है.
बता दें कि 74 प्रतिशत मुस्लिम वोटर एसपी-कांग्रेस गठबंधन के साथ है, जबकि बीजेपी के साथ 8 प्रतिशत और बीएसपी के साथ 12 प्रतिशत मुस्लिम वोटर है.वहीँ दलित वोटर सपा-कांग्रेस गठबंधन के साथ 8 फीसदी, बीजेपी के साथ 10 फीसदी और बीएसपी के साथ 79 फीसदी है.

जबकि सवर्ण वोटर में सपा-कांग्रेस गठबंधन के पक्ष में 21 फीसदी , बीजेपी के पक्ष में 59 फीसदी और बीएसपी के पक्ष में 8 फीसदी है. आपको बता दें कि सवर्ण वोटरों में सर्वाधिक लोकप्रिय बीजेपी ही है. सपा-कांग्रेस गठबंधन के साथ 21 फीसदी, बीजेपी के साथ 59 फीसदी और बीएसपी के साथ 8 फीसदी वोटर है.

वहीँ अन्य यानी गैर यादव ओबीसी वोटर सपा-कांग्रेस गठबंधन के पक्ष में 20 फीसदी, बीजेपी के पक्ष में 34 फीसदी और बीएसपी के पक्ष में 16 फीसदी है.

युवाओं को पसंद है सपा-कांग्रेस का साथ
इस बार के विधानसभा चुनाव में 18 से 25 वर्ष के युवाओं को अपनी ओर लुभाने के लिए भी राजनीतिक दलों ने अपने-अपने घोषणा पत्रों में लोकलुभावन वादे किए है. ओपिनियन पोल के मुताबिक, युवाओं की पहली पसंद अखिलेश-राहुल है. आपको बता दें 38 प्रतिशत युवा सपा-कांग्रेस के साथ खड़ा है, वहीँ इस मामले में बीएसपी काफी पीछे है उसके साथ मात्र 23 प्रतिशत युवा नजर आ रहा है. जबकि बीजेपी को 31 प्रतिशत युवाओं ने समर्थन दिया है.

इसके आलावा 26 से 45 वर्ष के लोगों के बीच भी एसपी-कांग्रेस को 38 प्रतिशत, बीजेपी गठबंधन को 23 प्रतिशत तो बीएसपी को 23 प्रतिशत पसंद कर रहे हैं.

किसको कितनी सीटें (कुल सीट - 403)

- बीएसपी तीसरे नंबर की पार्टी

- बहुमत के करीब गठबंधन

- गठबंधन को 200 से कम सीटें

- बीजेपी को 118 से 128 सीटें

- बीएसपी को 76 से 86 सीटें

- गठबंधन से बीजेपी को नुकसान नहीं

- गठबंधन को 187 से 197 सीटें

संभावित वोट प्रतिशत:-
सपा-कांग्रेस गठबंधन - 35 फीसदी

बीजेपी- 29 फीसदी

बीएसपी- 23 फीसदी

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top