यूपी चुनाव परिणाम पर सितारे दे रहे हैं चौंकाने वाले संकेत

 2017-03-08 12:26:46.0

यूपी चुनाव परिणाम पर सितारे दे रहे हैं चौंकाने वाले संकेत

तहलका न्यूज़ ब्यूरो
लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव का अंतिम चरण का मतदान बुधवार को समाप्त हो गया. अब 11 मार्च को चुनाव नतीजों की घोषणा होगी. इसी के साथ मीडिया से लेकर ज्योतिष तक तक सभी अनुमान लगाने में जुट गए हैं कि यूपी की सत्ता में कौन काबिज होगा. अब जब बात ज्योतिष कि हो तो जाहिर सी बात है कि काशी नगरी का नाम अपने आप ही आगे आ जाता है.
पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम अखिलेश यादव, बीएसपी सुप्रीमो मायावती और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की कुंडली एवं ग्रहों की चाल क्या कहती है, इसकी गणना ज्योतिषियों ने कर ली है तो आइए जानते हैं कि आखिर इस चुनावी समर में किस नेता का सितारा चमकेगा.

नहीं बनेगी त्रिशंकु सारकार
यूपी चुनाव 2017 में ज्यादातर राजनीतिक विशेषज्ञों का अभी तक यही मानना है कि इस बार कोई भी पार्टी पूर्ण बहुमत से नहीं आ रही है, सूबे में जो भी सरकार बनेगी वो गठबंधन की सरकार होगी. खुद पीएम मोदी भी अपने चुनावी भाषण में प्रदेश में त्रिशंकु सरकार बनने की ओर इशारा कर चुके हैं. बता दें कि ज्योतिषी विमल जैन भी ऐसा ही कुछ बताते हैं कि नवग्रहों में शनि ग्रह प्रमुख माने गए हैं. शनि का राशि परिवर्तन राजनीतिक उथल पुथल और हलचल कराएगा. आर्श्यजनक एवं चौंकानेवाले चुनाव परिणाम से सर्वे धरे के धरे रह जाएंगे. यूपी में त्रिशंकु सरकार की संभावना के बीच सरकार बनाने के लिए कदम बढ़ाने वाली पार्टी को तात्कालिक अवरोध या विरोध का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में मिली जुली सरकार भी आसानी से नहीं बन पाएगी.

सपा होगी यूपी में सबसे बड़ी पार्टी
ज्योतिषाचार्य सोनाली दीक्षित कहती हैं कि पीएम मोदी, मायावती और अखिलेश का जन्मांग चक्र देखें तो चूंकि मायावती और अखिलेश दोनों की बुद्ध की महादशा चल रही है. मायावती के बुद्ध की महादशा में शुक्र की अन्तर्दशा है और अखिलेश के बुद्ध की महादशा है वो लग्नेश भी है, तो लग्न की दशा शुभ मानी जाती है, लिहाजा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में अखिलेश की पार्टी आएगी.

यूपी की जनता की होगी जीत
ज्योतिषों की मानें तो इन ग्रहों की चाल बता रही है कि मतगणना ऐसा परिणाम लाएगी कि पार्टियों के दिग्गज नेता दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर होंगे. अखिल भारतीय विद्वत परिषद के महामंत्री डॉ. कामेश्वर उपाध्याय ने बताया कि चुनाव परिणाम चौंकाने वाला लेकिन लोकतंत्र के लिए बेहतर होगा. कुर्सी पाने और कुर्सी से बेदखल होने में शनि-राहु ग्रहों की प्रमुख भूमिका होती है. धनु राशि के शनि और चंद्रमा का प्रभाव किसी सूबे में किसी दल के लिए लाभकारी, वहीं दूसरी जगह चोट पहुंचाने वाला साबित हो सकता है. बेहतर प्रदर्शन से एक-दो दलों का आने वाले समय में सियासी कद बढ़ सकता है. कुल मिलाकर जनता जनार्दन एक बार फिर लोकतंत्र का सिकंदर साबित होगी, इसमे दो राय नहीं है.

Tags:    
loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top