Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बरेली: सीएम अखिलेश के जाते ही छीन लिए गए ई-रिक्शा, अनट्रेंड लोगों को बांटे गए थे

 Anurag Tiwari |  2016-05-26 11:19:28.0

IMG-20160526-WA0012

देश दीपक गंगवार

बरेली. सीएम अखिलेश यादव ने मंगलवार को रामगंगा तिराहे पर 417 लोगों को ई-रिक्शा बांटे थे। लेकिन उनके यहां से जाते ही नगर निगम के अधिकारी रिक्शे रिक्शा मालिकों से जबरन छीनकर वापस ले गए और जीटीआई के मैदान पर खड़े करा दिएहैं। निगम के इस कदम से रिक्शा यूनियन में आक्रोश है। जहाँ समाजवादी पार्टी के नेताओं ने इस मामले में वाहवाही लूटी वहीँ अब साधरण रिक्शा जमाकर ई-रिक्शा लेने वालों के सामने भुखमरी की नौबत आ गई है।


28 मई तक नहीं मिले रिक्शा तो होगा आन्दोलन

सीएम के जाते ही नगर निगम और परियोजना अधिकारी ने सभी चालकों से रिक्शा वापस ले लिये, अगर 28 मई तक रिक्शा वापस नही किए गए तो संगठन आंदोलन शुरु करेगा। रिक्शा चालकों का कहना है कि पहले हम रिक्शा चलाते थे, हमारी रोजी रोटी का साधन उसी से चलता था, अब जब पता चला की मुख्यमंत्री जी के द्वारा ई-रिक्शा दिए जायेगे तो हमने भी फार्म भर दिया, लेकिन हमे क्या मालूम था कि ये सिर्फ दिखावे के लिए दिए गए थे, और हमारे भी रिक्शे जमाकर लिए अब हम कहा जाए अपना और अपने बच्चो का पेट कैसे भरे, कोई रोजगार भी नही मिल रहा है।

letter

क्या कहना है अधिकारियों का

वहीँ इस मामले में नगर आयुक्त शीलधर सिंह यादव ट्रेनिंग की बात करते हैं, लेकिन ठोस समाधान देने में वे भी असफल रहे। वे कहते हैं कि जिन्हे ई-रिक्शा दिए गए थे, वो अभी अनट्रेंड है, पहले उन्हे रिक्शा चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी, ट्रेंड होने के बाद जिसका जो रिक्शा है उसे दे दिया जाएगा। वहीँ अधिकारियों की लापरवाही से मैदान में खड़े एक ई-रिक्शा पर पेड़ गिरा गया जिससे वह बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुका है।

IMG-20160526-WA0004

सीएम ने ई-रिक्शा देकर दी थी बढ़ाई

यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने बीते मंगलवार को बरेली में 417 रिक्शा चालकों को ई-रिक्शा वितरित कर, उन्हें हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया था। उन्होंने ई-रिक्शा के लाभार्थियां को बधाई देते हुए कहा था कि सूबे में विभिन्न शहरों के रिक्शा चालकों को ई-रिक्शा मुफ्त में वितरित कर रहे हैं। सरकार की मंशा बड़े पैमाने पर निःशुल्क ई-रिक्शा वितरित करने की है, ताकि अधिक से अधिक संख्या में रिक्शा चालकों को यह ई-रिक्शा उपलब्ध हो सके और वे स्वावलम्बी बन सकें। सरकार का यह प्रयास भी है कि इन ई-रिक्शों का मालिकाना हक भी रिक्शा चालकों को मिल जाए।

IMG-20160526-WA0009

लखनऊ की तर्ज पर बरेली में भी 10 रुपये में भोजन

इस अवसर पर सीएम अखिलेश ने लखनऊ की तर्ज पर बरेली में भी मजदूरों को 10 रुपए में भोजन उपलब्ध कराने हेतु कैन्टीन खोलने के निर्देश जिलाधिकारी को दिए। उन्हांने कहा कि डीएम इसकी व्यवस्था जल्दी करा लें। राज्य सरकार द्वारा इसके लिए हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। इस योजना के क्रियान्वयन से बरेली के मजदूरों को सस्ते मे अच्छा खाना उपलब्ध होने लगेगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top