Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सायकिल ट्रैक को अतिक्रमण से भी तो मुक्त करिए

 Sabahat Vijeta |  2016-05-20 14:17:17.0

bjplogoलखनऊ. भारतीय जनता पार्टी ने कहा साइकिल ट्रैक को लेकर दावे करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अनियोजित तरीके से बनाये गये साइकिल ट्रैकों को अतिक्रमण मुक्त तो कराएं. प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा 55 लाख से अधिक लोगों को मिल रही है पेंशन के थोथे दावे करती सरकार हकीकत का सामना करने से क्यों बच रही है?


शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय पर प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा 100 किलोमीटर साइकिल ट्रैक लखनऊ में तैयार होने का दावा करने वाले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव केवल फोटो अप ही करेंगे या जो ट्रैक बनाये गये है उनकी असलियत भी परखेंगे। समाजवादी ठेकेदारों का पोषण करने के उद्देश्य से कई जगहों पर बनाये गये साइकिल ट्रैक अतिक्रमण के शिकार हैं कई स्थानों पर तो इनकी उपयोगिता को लेकर भी ढेरों सवाल खड़े हो रहे हैं, आखिर नियोजित तरीके से साइकिल ट्रैक बनाये जाने में क्या कठिनाई थी ? क्यों बजाय इसके कि  उसकी उपयोगिता का ध्यान में रखा जाये तुष्टीकरण के नजरीये से साइकिल ट्रैकों को मंजूरी दी गयी। कई स्थानों पर पार्किग के स्थान पर साइकिल ट्रैक बनने के कारण ट्रैफिक जाम के कारण बन गये है साइकिल ट्रैक।


उन्होंने अखबारों में जारी विज्ञापन पर सवाल खडे़ करते हुए कहा कि 55 लाख से अधिक लोगों को मिल रही है समाजवादी पेंशन का दावा किया जा रहा है किन्तु इस सच का सामना सरकार क्यों नहीं कर रही है कि जब उसने कहा था कि 45 लाख लोगों को पेंशन दी जायेगी तब तो ये आंकड़े छू नहीं पायी अब ये आकड़े 55 लाख के लक्ष्य पर है, लाभ प्रदान किये जाने की बात हो रही है किन्तु 55 लाख लोगों तक ये पेंशन पहुंच पायेगी संदेह है पिछले उदाहरणों को देख कर यही लगता है।


श्री पाठक ने कहा कि विकास के थोथे दावे करती अखिलेश सरकार विकास की योजनाओं को परवाना नहीं चढ़ा पा रही है। सरकार की लचर व्यवस्था के कारण प्रधानमंत्री आवास योजना उ.प्र. में समय से मूर्त रूप नहीं ले पायी। उ.प्र. के हिस्से में 300 करोड़ रूपये प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर मिलने का नुकसान हुआ। प्रधानमंत्री किसान फसल बीमा को लेकर के भी सरकार अनावश्यक रूप से लेट-लतीफी कर रही है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top