Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दुनिया की सबसे बड़ी Policing व्यवस्था होगी डायल 100

 Girish Tiwari |  2016-06-23 07:55:14.0

525a3399-61c0-4281-9db5-29fc08e14786

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
लखनऊ : 
यूपी वासियों को इमरजेंसी में बेहतर सेवा देने का सीएम अखिलेश यादव का सपना सच होने जा रहा है। गुरुवार को सीएम अखिलेश यादव ने अपने आवास पर डायल 100 का प्रेजेंटेशन देखा। इस दौरान मुख्‍य सचिव ने बताया कि ये योजना पूरे प्रदेश में लागू होगी।

इस दौरान सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि डायल 100 सिर्फ भाषण में नहीं जमीन पर उतारना चाहते हैंं। जनता चाहती है की समय पर पुलिस पहुंंचे हम भी यही चाहते हैं। सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस की बुराई चाहे जितनी करें, मदद पुलिस ही करेगी। डॉयल 100 देश के लिए एक उदाहरण होगा। पुलिस विभाग को हाईटेक कर रहे हैं। डॉयल 100 से पुलिस में तेजी आएगी।


सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि जमीन को लेकर सबसे ज्यादा झगड़े होते हैं। सीएम ने कहा कि खबरों को सूचना मानकर कार्रवाई करता हूं। पुलिस कुछ न कुछ जरूर करती रहती है। सीएम ने कहा कि पुलिस हमेशा काम करती है। डॉयल 100 से पुलिस मदद को जल्दी पहुंचेगी। सरकार ने डॉयल 100 की खास तैयारी की है।

क्‍या है खास
- भारतीय भाषाओँ के अलावा पर्यटको के लिए विदेशी भाषाए और दिव्यंगो के लिए साइन लैंगुएज भी होगी।
- प्रतिमाह 1 रुपया प्रति व्यक्ति का खर्च हो रहा है कुल
- 401 प्रोटोकाल बनाये गए हैं एक्शन के लिए
- 3200 गाड़िया लगेंगी इस काम में
- 700 महिलाएं काम करेंगी काल रिसीव करने के लिए
- दुनिया की सबसे बड़ी व्यवस्था होगी पुलिसिंग की
- 2 लाख काल एक दिन में रिसीव होंगी
- ट्रेनिंग 25 हजार कर्मचारियों की होगी साथ ही सभी दरोगाओं का प्रशिक्षण जुलाई अगस्त में हो जायेगा
- 2 अक्टूबर से इस योजना की शुरुआत होगी

इस परियोजना को लागू किये जाने पर पुलिस बल के रिस्‍पांस टाइम बहुत तेज हो जाएगा।
- शहरी क्षेत्रों में रिस्‍पांस टाइम (दो पहिया वाहन)             10 मिनट
- शहरी क्षेत्रों हेतु रिस्‍पान्‍स      (चार पहिया वाहन)           15 मिनट
- ग्रामीण क्षेत्रों हेतु रिस्‍पान्‍स टाइम (चार पहिया वाहन)   20 मिनट

क्या है योजना? 
- इस परियोजना की कुल लागत 2325.33 करोड़ रुपए होगी। लखनऊ, कानपुर नगर, इलाहाबाद और गाजियाबाद में स्थापित मॉडर्न कंट्रोल रूम की सेवाओं को देखते हुए सरकार ने इस योजना को लागू करने की योजना बनाई है।
- इसके लिए प्रदेश स्तरीय पुलिस इमरजेंसी प्रबंधन प्रणाली (पीईएमएस) डायल ‘100’ परियोजना लागू की जा रही है।
- इस परियोजना के लिए लखनऊ में एक केंद्रीय मास्टर को-आर्डिनेशन सेंटर स्थापित किया जाएगा। जिसकी आधारशिला सीएम ने शनिवार को रखी है। इससे पूरे प्रदेश पर नजर रखने के साथ-साथ जरूरी दिशा-निर्देश दिए जा सकेंगे।

मेन सेंटर के अलावा दो सब सेंटर भी बनेंगे
- लखनऊ में स्थापित किए जा रहे डायल 100 कंट्रोल रूम की तरह आगरा और वाराणसी में दो सब सेंटर लगाए जाएंगे।
- ये सब सेंटर मेन कंट्रोल रूम के ऑप्शन के रूप में काम करेंगे।
- लखनऊ के मेन सेंटर से की जाने वाली सभी कार्रवाई आगरा औए वाराणसी के सब सेंटर से भी आसानी से की जा सकेंगी।

बैकअप के रूप में 24 घंटे काम करेंगे सब सेंटर
- आगरा और वाराणसी के सब सेंटर की क्षमता मेन कंट्रोल रूम की 15 फीसदी होगी।
- लखनऊ सेंटर की सेवाओं में किसी तरह की रूकावट होने की स्थिति में या लिमिट से ज्यादा टेलीफोन कॉल होने की स्थिति में ये सेंटर 24 घंटे खुद काम करेंगे।

8 एकड़ भूमि पर होगा विस्तार
परियोजना के लिए लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी (एलडीए) से शहीद पथ के निकट गोमतीनगर विस्तार में शासन ने 8 एकड़ भूमि खरीदी गई है। इस भूखंड पर प्रदेश स्तरीय केंद्रीय मास्टर कोऑर्डिनेशन सेंटर के नाम से आधुनिक केंद्र की स्थापना स्थापना की जाएगी।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top