Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दांदूपुर में खुला प्रदेश का पहला समाजवादी अभिनव विद्यालय

 Sabahat Vijeta |  2016-04-23 16:32:00.0


  • मुख्यमंत्री ने इलाहाबाद मण्डल के चाका विकास खण्ड के दांदूपुर में प्रदेश के पहले समाजवादी अभिनव विद्यालय का उद्घाटन किया

  • सीबीएसई के पैटर्न पर यह आवासीय विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित होगा: मुख्यमंत्री

  • प्रदेश में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए समाजवादी सरकार की अनूठी पहल

  • समाजवादी अभिनव विद्यालय 18 मण्डल मुख्यालयों पर प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित किए जा रहे हैं

  • दांदूपुर एलईडी विलेज तथा खुले में शौचालय जाने से मुक्त (ओडीएफ) गांव घोषित

  • मुख्यमंत्री ने कुम्भ मेला कवर डाक टिकट तथा सूचना विभाग के डेस्क कैलेण्डर का विमोचन किया

  • मुख्यमंत्री का जनपद इलाहाबाद भ्रमण


akh-dadupurलखनऊ, 23 अप्रैल. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इलाहाबाद मण्डल के चाका विकास खण्ड के दांदूपुर में उत्तर प्रदेश के पहले समाजवादी अभिनव विद्यालय का आज उद्घाटन करते हुए कहा कि सीबीएसई के पैटर्न पर यह आवासीय विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने विद्यार्थियों को सलाह दी कि वे जीवन में अपने माता-पिता और गुरुजन का समान रूप से आदर व सम्मान करें और उनका आशीर्वाद ग्रहण करें। उन्होंने कहा कि माता-पिता एवं गुरुजन के आशीर्वाद से कठिन से कठिन राह आसान हो जाती है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी गांव, देश या समाज का विकास उसके शैक्षणिक विकास पर निर्भर करता है और दांदूपुर इसका एक अच्छा उदाहरण है। उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति एस. हसनैन के व्यक्तित्व की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि न्यायमूर्ति महोदय ने गांव से अभी तक अपना रिश्ता जोड़े रखा है, जिसका परिणाम यह है कि दांदूपुर एक आदर्श ग्राम के रूप में हमारे सामने है। मुख्यमंत्री ने आज जनपद इलाहाबाद के दांदूपुर को एलईडी विलेज के रूप में और दांदूपुर को खुले में शौचालय जाने से मुक्त (ओडीएफ) गांव घोषित किया।


श्री यादव ने इस अवसर पर कुम्भ मेला कवर डाक टिकट तथा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, उ.प्र. की ओर से सांस्कृतिक नगरी इलाहाबाद की सांस्कृतिक धरोहरों पर आधारित डेस्क कैलेण्डर का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने विद्यालय परिसर में पीपल के एक पौधे का रोपण भी किया। समाजवादी अभिनव विद्यालय प्रदेश के 18 मण्डल मुख्यालयों पर प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित किए जा रहे हैं, जिसमें से प्रत्येक की लागत 3 करोड़ 2 लाख रुपए है। दांदूपुर का समाजवादी अभिनव विद्यालय प्रदेश का पहला अभिनव विद्यालय हो गया है। यह सीबीएससी तर्ज पर हिन्दी मीडियम का आवासीय विद्यालय होगा, जिसमें सह शिक्षा लागू होगी।


मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ बेंच के न्यायमूर्ति शबीहुल हसनैन ने कहा कि मुख्यमंत्री ने दांदूपुर गांव में सड़क, बिजली, पानी, विद्यालय जैसी मूलभूत सुविधाएं प्रदान कर इस गांव को आदर्श गांव के रूप में जो तोहफा दिया है, उसके लिये पूरा गांव उनके प्रति कृतज्ञ रहेगा।


इस मौके पर मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए माध्यमिक शिक्षा मंत्री बलराम यादव ने कहा कि समाजवादी अभिनव विद्यालयों की स्थापना प्रदेश सरकार की एक ऐसी अनूठी पहल है, जो ग्राम्य स्तर पर उच्च गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया कराने का सपना साकार करेगी। उन्होंने अभिनव विद्यालय के उद्घाटन को शिक्षा के क्षेत्र में एक नई शुरुआत बताया।


इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा जितेन्द्र कुमार, जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top