Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

प्रियंका की मॉनिटरिंग के बाद भी बाजीगरी में उलझ गया कांग्रेस का 'किसान मांग पत्र'

 Girish Tiwari |  2016-10-07 09:18:27.0

priyanka-rahul


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने देवरिया से दिल्‍ली किसान यात्रा की। इस दौरान उन्‍होंने गांव-गांव खाट सभा किया और किसानों से मांग-पत्र भरवाया। कांग्रेस का दावा है कि उसने अब तक 75 लाख परिवारों से कर्ज माफी के फॉर्म भरा लिए हैं। हालांकि हकीकत कुछ और ही है। किसानों को पता नहीं है, लेकिन उनके नाम से कांग्रेसी अपने-अपने घर बैठकर मांग पत्र भर रहे हैं। हर व्यक्ति को मिले टारगेट को पूरा करने की कोशिशों में आंकड़ों की बाजीगरी हो रही है। कारण, टिकट और पद के लिए जो सिर पर तलवार लटक रही है, उससे केवल किसान मांगपत्रों की संख्या ही बचा सकती है।


जानकारी के अनुसार राहुल के किसान यात्रा के दौरान किसान मांग पत्र भरवानेे में कांग्रेसियों के पसीने छूट गए। अमेठी में तो स्थिति यह है कि यहां जो भी फॉर्म भराए गए उनमें से आधे से ज्यादा ने मिस कॉल ही नहीं किया। तय यह किया गया था कि जिसका फॉर्म भराया जाएगा उसके नंबर से कांग्रेस के टॉल फ्री नंबर मिस कॉल की जाएगी ताकि उसका रजिस्ट्रेशन हो सके। यह हालत तब है जबकि प्रियंका गांधी वाड्रा खुद इसकी मॉनिटरिंग कर रही हैं।


एक संभावित उम्मीदवार ने बताया कि मांगपत्र में शहरी इलाकों के लिए कुछ नहीं है। ऐसे में लोगों तक पहुंचना भी टेढ़ी खीर है। कुछ कांग्रेसी तो शहरवासियों को बिजली बिल आधा करने की बात कहकर फॉर्म भरवा रहे हैं। कुछ यह दिलासा दे रहे हैं कि किसानों को बिजली सस्ती मिलेगी।


कांग्रेस की किसान मांग पत्र के अभियान में आंकडों की बाजीगरी को इस बात से समझा जा सकता है कि उन्‍होंने 15 हजार परिवार से एक लाख फॉर्म भरवा दिए। वाराणसी का हाल यह है कि यहां बमुश्किल 15 से 18 हजार परिवार तक कांग्रेस पहुंच पाई है। जबकि मांगपत्र का आंकड़ा एक लाख हो गया है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा मानते हैं कि सिर्फ बकायेदार किसान से नहीं बल्कि उसके परिवार के सभी व्यस्क सदस्यों से अलग-अलग मांग पत्र भरवाया गया है। इस तरह एक परिवार से कम से कम दो और ज्यादा से ज्यादा 6 से 8 लोगों ने मांग पत्र भरा है।


गोरखपुर शहरी इलाके में तो किसान मांग पत्र को लेकर कुछ भी नहीं हो रहा। वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों में वही लोग जुटे हैं, जिन्हें कांग्रेस से टिकट चाहिए। हालत यह है कि उम्मीदवार अपने समर्थकों से कुछ जगहों पर ठेके पर किसान मांग पत्र भरवा रहे हैं। जिला कांग्रेस अध्यक्ष सैय्यद जमाल अहमद कहते हैं, परिवार में जितने भी कर्जदार हैं सबका फॉर्म भराया जा रहा है।




Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top