Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सीएम ने हस्तशिल्पियों को समाजवादी पेंशन का निर्देश दिया

 Sabahat Vijeta |  2016-07-28 17:58:02.0

CM-Akhilesh-Yadav





  • समाजवादी युवा स्वरोजगार योजना और समाजवादी हस्तशिल्प पेंशन योजना को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश: मुख्यमंत्री

  • पावरलूम बुनकरों को विद्युत सब्सिडी देने की योजना, समाजवादी हथकरघा बुनकर पेंशन योजना तथा जनेश्वर मिश्र पावरलूम विकास योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए

  • भदोही कारपेट बाजार के निर्माण में तेजी लाने के निर्देश

  • मुख्यमंत्री ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग के साथ-साथ हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग विभाग की योजनाओं की समीक्षा की


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी युवा स्वरोजगार योजना और समाजवादी हस्तशिल्प पेंशन योजना को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी युवा स्वरोजगार योजना जहां रोजगार प्राप्त करने के इच्छुक नौजवानों को उद्यमी बनाने में मददगार साबित हो सकती है, वहीं समाजवादी हस्तशिल्प पेंशन योजना से प्रदेश के परम्परागत हस्तशिल्पियों को अपने भविष्य के प्रति भरोसा मिलेगा। इससे इन्हें अपनी कला को और अधिक निखारने का प्रोत्साहन भी प्राप्त होगा।


मुख्यमंत्री ने पावरलूम बुनकरों को विद्युत सब्सिडी देने की योजना, समाजवादी हथकरघा बुनकर पेंशन योजना तथा जनेश्वर मिश्र पावरलूम विकास योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के निर्देश देते हुए कहा कि इस क्षेत्र में ढाई लाख से अधिक लोग जीविकोपार्जन में लगे हुए हैं, इसलिए इन योजनाओं की जानकारी पात्र व्यक्तियों तक प्रभावी रूप से पहुंचायी जाए। उन्होंने नवम्बर, 2016 तक इन योजनाओं का शत्-प्रतिशत लाभ लाभार्थियों तक पहुंचाने के सख्त निर्देश दिए हैं।


यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक बैठक में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग के साथ-साथ हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उत्तर प्रदेश एक्सपोर्ट प्रमोशन काउन्सिल के क्रियाकलापों की जानकारी प्राप्त करते हुए उन्होंने कहा कि देश में उत्तर प्रदेश पहला राज्य है, जहां इस प्रकार की काउन्सिल का गठन किया गया है। इसके लिए काॅर्पस फण्ड की व्यवस्था भी की गई है। राज्य की पहचान देश के सर्वश्रेष्ठ निर्यातक प्रदेश के रूप में स्थापित करने के लिए उन्होंने राज्य की निर्यातक इकाइयों को तत्काल विपणन सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए काउन्सिल को क्रियाशील करने का निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री ने भदोही में निर्माणाधीन कार्पेट बाजार के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कार्पेट बाजार के निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए आवश्यक पुनरीक्षित आगणन मंत्रिपरिषद के समक्ष प्रस्तुत कर शीघ्र आदेश प्राप्त किया जाए। इसी प्रकार इंस्टीट्यूट आॅफ डिज़ाइन के निर्माण के लिए भूमि प्राप्त करने हेतु भी प्रस्ताव मंत्रिपरिषद के समक्ष लाने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इंस्टीट्यूट के लिए आवश्यक पदों के सृजन की कार्यवाही भी शुरू की जाए। साथ ही, 22 अगस्त, 2016 से यूपीआईडी केन्द्र के परिसर में इसके पहले बैच की ट्रेनिंग शुरू की जाए।


श्री यादव ने कहा कि उद्यमिता विकास संस्थान को पहली बार राज्य सरकार के माध्यम से 10 करोड़ रुपए का काॅर्पस फण्ड उपलब्ध कराया गया है। यह संस्थान उद्यमिता विकास के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है। वर्तमान वित्तीय वर्ष ‘युवा वर्ष’ के तौर पर मनाया जा रहा है। ऐसे में प्रदेश सरकार की कई योजनाओं जैसे समाजवादी युवा स्वरोजगार योजना, स्टार्ट अप पाॅलिसी, कामधेनु योजना, इनोवेशन फण्ड आदि के लाभार्थियों को इसके माध्यम से प्रशिक्षण दिलाया जा सकता है, जिससे इन योजनाओं को स्वतः रोजगार का माध्यम बनाने वाले नौजवानों को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने एमएसएमआई द्वारा बनाए गए नये पोर्टल को शीघ्र औपचारिक रूप से लोकार्पित कराने के भी निर्देश दिए हैं।


मुख्यमंत्री ने विपणन की आधुनिक चुनौतियों का सामना करने के लिए जनपद आजमगढ़ में स्थापित हथकरघा विपणन केन्द्र, मुबारकपुर को शीघ्र शुरू करने तथा पावरलूम बुनकरों एवं धुनकरों को विद्युत दर में छूट की प्रतिपूर्ति प्रदान करने हेतु शीघ्र गाइड लाइन तैयार कर एक माह के अंदर मंत्रिपरिषद से आदेश प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग प्रदेश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सर्वाधिक रोजगार भी इन्हीं क्षेत्रों में मिला है। इसलिए इस क्षेत्र की उपेक्षा कतई नहीं की जा सकती है। इसी प्रकार हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग के माध्यम से भी बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलता है। इसलिए इस सेक्टर के लिए संचालित योजनाओं को पूरी तत्परता एवं गम्भीरता से चलाया जाए।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top