Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

राष्ट्रपति पदक की तर्ज़ पर यूपी के जांबाज़ पुलिस कर्मियों को मिलेगा मुख्यमंत्री का वीरता पदक

 Sabahat Vijeta |  2016-12-08 13:38:41.0

4 IAS officers



तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. उत्तर प्रदेश पुलिस के जांबाजों को सीएम अखिलेश यादव ने नई सौगात देने का फैसला किया है. राष्ट्रपति पदक की तर्ज पर अब यूपी के जांबाज़ पुलिस कर्मियों को मुख्यमंत्री का वीरता पदक दिया जायेगा. मुख्यमंत्री की तरफ से पहली बार 8 बहादुरों को वीरता पदक प्रदान किया जायेगा. पुलिस सप्ताह के दौरान 10 दिसम्बर को लोक भवन में अदम्य साहस और शौर्य का प्रदर्शन करने वाले पुलिस कर्मियों को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मुख्यमंत्री का वीरता पदक और मुख्यमंत्री का प्रशस्ति पत्र प्रदान करेंगे.


अपनी ड्यूटी के दौरान उल्लेखनीय बहादुरी का प्रदर्शन करने वाले अराजपत्रित पुलिस कर्मियों को पहले आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन का नियम था. राज्य सरकार ने इसे बंद कर दिया था. इस परम्परा को बंद किये जाने के कारण मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ड्यूटी के दौरान अदम्य साहस का प्रदर्शन करने वाले पुलिस कर्मियों को मुख्यमंत्री का वीरता पदक और मुख्यमंत्री का प्रशस्ति पत्र दिया जायेगा.


पुलिस कर्मियों के साहसिक कार्य के लिये उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक की संस्तुति पर राज्य सरकार ने तय किया है कि मुख्यमंत्री की ओर से हर साल राज्य के 25 जांबाज़ पुलिस कर्मियों की मुख्यमंत्री का प्रशस्ति पत्र और 25 हज़ार रूपये की राशि प्रदान की जायेगी. 10 बहादुर पुलिस कर्मियों को मुख्यमंत्री का वीरता पदक दिया जाएगा. वीरता पदक पाने वाले पुलिस कर्मियों के वेतन में एक हज़ार रूपये की बढ़ोत्तरी की जायेगी.


10 दिसम्बर को लोक भवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 8 बहादुर पुलिस कर्मियों को मुख्यमंत्री के वीरता पदक से सम्मानित करेंगे. दो पुलिस कर्मियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया जायेगा. बुलंदशहर के मृतक आरक्षी नरेन्द्र सिंह और जीआरपी मुरादाबाद में तैनात रहे सिपाही शहीद नवीन चौधरी को मुख्यमंत्री के वीरता पदक से सम्मानित किया जायेगा.


मुख्यमंत्री का वीरता पदक पाने वालों में एकमात्र महिला सिपाही सुनीता तिवारी लखनऊ में कार्यरत है. लखनऊ के ही हेड कांसटेबिल राजेन्द्र प्रसाद द्विवेदी, बुलंदशहर के मुख्य आरक्षी उधम सिंह, बुलंदशहर के ही सिपाही मलखान सिंह, गाज़ियाबाद के सिपाही कुलदीप धामा और आगरा के सब इंस्पेक्टर अमित कुमार को मुख्यमंत्री के वीरता पदक से सम्मानित किया जायेगा.


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 22 बहादुर पुलिस कर्मियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान करेंगे. प्रशस्ति पत्र पाने वालों में देवरिया के सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार पाण्डेय, सब इंस्पेक्टर राधेश्याम राय, मुख्य आरक्षी घनश्याम सिंह और सिपाही दिनेश राय को मुख्यमंत्री का प्रशस्ति पत्र मिलेगा. गौतम बुद्ध नगर में एसटीएफ में तैनात सब इंस्पेक्टर सचिन कुमार, हेड कांस्टेबिल अवध नारायण चौधरी, राजेन्द्र सिंह, सब इंस्पेक्टर श्याम सुन्दर, हेड कांस्टेबिल राकेश कुमार, मनीष कुमार उपाध्याय, कांस्टेबिल राजवीर सिंह और ड्राइवर विनोद कुमार को मुख्यमंत्री का प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा.


मेरठ के इंस्पेक्टर गजेन्द्र प्रताप सिंह, गौतमबुद्धनगर के सब इंस्पेक्टर आलोक कुमार सिंह (वर्तमान में साइबर सेल लखनऊ में तैनात), गौतमबुद्धनगर के सिपाही पंकज कटारिया, गाज़ियाबाद के इंस्पेक्टर उपेन्द्र कुमार यादव, इंस्पेक्टर राशिद अली, इंस्पेक्टर अरुण कुमार, श्रावस्ती के सब इंस्पेक्टर छोटक सिंह यादव, सिपाही दिवाकर प्रसाद द्विवेदी, सिपाही पतंजलि कुमार पाण्डेय और ड्राइवर हरेराम यादव को मुख्यमंत्री का प्रशस्ति पत्र और 25 हज़ार रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top