Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

CM अखिलेश खुद करेंगे कानून-व्यवस्था की मॉनिटरिंग, सुस्त अफसरों के कसेंगे पेंच

 Tahlka News |  2016-03-27 05:28:42.0

YadavAkhilesh

तलहका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ, 27 मार्च. आगामी विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की पहली सूची जारी करने के साथ ही सपा सरकार अब इलेक्शन मोड में आ गई है। प्रत्याशियों के एलान में दूसरे दलों से बढ़त लेने के बाद सीएम अखिलेश यादव अब अपनी सरकार की छवि ठीक करने के मोर्चे पर जुटने जा रहे हैं।


इसके लिए सीएम अखिलेश यादव अब खुद कानून-व्यवस्था की मॉनिटरिंग करेंगे। सूत्रों की माने तो अखिलेश अप्रैल से जिलों का दौरा शुरू कर सकते हैं।सीएम की बैठकों का सिलसिला अगले सप्ताह से शुरू होने की उम्मीद है। सीएम आ‍ॅफिस जिलों में उनके दौरे का ब्लयू प्रिंट तैयार करने में जुटा है। 


साथ ही सरकार चाहती है कि जिन बड़ी परियोजनाओं पर काम चल रहा है, उन्हें हर कीमत पर अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाए। उन विभागों व अधिकारियों के पेंच कसने की तैयारी है जो टाइमलाइन से पीछे चल रहे हैं।


बता दें कि सरकार के चार साल पूरे होने के मौके पर मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि कानून व्यवस्था की समीक्षा अब वे खुद करेंगे।


चुनावी साल मे सरकार के सामने बड़ी चुनौती कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने की है क्योंकि विपक्ष इसी मुद्दे को हवा देकर सरकार को कठघरे में खड़ा करने में जुटा है। विकास के मुद्दे पर भले ही अखिलेश विपक्ष को हमलावर होने का मौका न दे पा रहे हो, पर कानून व्यवस्था को लेकर सरकार बैकफुट पर नजर आ रही है। यही वजह है कि अखिलेश अब कानून-व्यवस्था की निगरानी की कमान खुद अपने हाथ में लेने की बात कह रहे हैं।

सीएम ने गृह विभाग व डीजीपी को अपराधों पर नियंत्रण के लिए प्रभावी कार्ययोजना बनाने और पुलिस रिस्पांस टाइम पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है। जल्द ही वह अफसरों के साथ बैठक करके समीक्षा करेंगे कि इस दिशा में कितना काम हुआ और इसके नतीजे क्या रहे?


सीएम जोनवार कानून-व्यवस्था की गहन समीक्षा करेंगे और जहां अपराध का ग्राफ बढ़ा है या अपराधों के नियंत्रण में अधिकारी नाकाम रहें हैं, वहां बड़े पैमाने पर बदलाव भी किया जा सकता है।       

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top