Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

CM अखिलेश ने तय की अधूरे मेडिकल कालेजों का काम खत्म करने की डेडलाइन

 Sabahat Vijeta |  2016-07-05 18:37:05.0

Akhilesh_cabinet




  • समाजवादी सरकार जनता को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध: मुख्यमंत्री

  • राज्य सरकार मौजूदा मेडिकल काॅलेजों के संसाधनों में बढ़ोत्तरी के साथ-साथ नए राजकीय मेडिकल काॅलेज भी स्थापित कर रही है

  • मुख्यमंत्री ने कानपुर, आगरा, इलाहाबाद, झांसी, मेरठ तथा गोरखपुर मेडिकल काॅलेजों के कार्यों की समीक्षा की

  • इन मेडिकल काॅलेजों में उपकरणों की स्थापना का कार्य 31 अक्टूबर, 2016 तक पूरा कर लिया जाए

  • स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए प्रदेश सरकार लगातार जरूरी कदम उठाती रहेगी


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सरकारी मेडिकल काॅलेजों द्वारा जनता को प्रदान की जा रही उच्च स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं के दृष्टिगत, राज्य सरकार मौजूदा मेडिकल काॅलेजों के संसाधनों में बढ़ोत्तरी के साथ-साथ नए राजकीय मेडिकल काॅलेज भी स्थापित कर रही है। उन्होंने मेडिकल काॅलेजों सहित हर स्तर के सरकारी अस्पतालों में आवश्यक चिकित्सा उपकरण उपलब्ध कराने और इनके जरिए रोगियों का बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार जनता को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।


मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में विभिन्न राजकीय मेडिकल काॅलेजों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कानपुर, आगरा, इलाहाबाद,  झांसी, मेरठ तथा गोरखपुर के राजकीय मेडिकल काॅलेजों की समीक्षा की और इनके संसाधनों की उपलब्धता को बेहतर बनाने के सम्बन्ध में कई फैसले भी लिए।


बैठक के दौरान इन मेडिकल काॅलेजों में आवश्यक उपकरणों जैसे सी.टी. स्कैन, एम.आर.आई. मशीन इत्यादि की स्थापना, लोक सेवा आयोग से चयनित प्रवक्ताओं की ज्वाइनिंग, अधीनस्थ एवं लोक सेवा आयोग से विभिन्न पदों को भरने के लिए अनुरोध, असाध्य रोग नियमावली के तहत मेडिकल काॅलेजों में विभागाध्यक्ष स्तर पर समिति के गठन जैसे विषयों की समीक्षा की गई है।


कानपुर, आगरा, इलाहाबाद, झांसी, मेरठ तथा गोरखपुर के मेडिकल काॅलेजों में उपकरणों की स्थापना के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कार्य त्वरित गति से करते हुए 31 अक्टूबर, 2016 तक पूरा कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि मेरठ तथा गोरखपुर मेडिकल काॅलेजों में स्थापित की गई एम.आर.आई. मशीनों के क्रियाशील हो जाने से लोगों को इनका लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि सभी राजकीय मेडिकल काॅलेजों में उपकरणों को खरीदे जाने की स्वीकृति के सम्बन्ध में 30 जून, 2016 को आदेश जारी कर दिया गया है। अतः अगले तीन माह में उपकरणों को खरीद कर उन्हें क्रियाशील कर दिया जाए।


समीक्षा बैठक के दौरान श्री यादव ने चिकित्सा शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित किया कि लोक सेवा आयोग से जिन प्रवक्ताओं की संस्तुतियां प्राप्त हुई हैं, उनकी तैनाती का प्रस्ताव तत्काल मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजा जाए और सम्बन्धित जनपद के सीएमओ द्वारा प्रवक्ताओं की ज्वाइनिंग से पूर्व मेडिकल परीक्षण करा लिया जाए। अधीनस्थ एवं लोक सेवा आयोग के अंतर्गत होने वाली भर्तियों के सम्बन्ध में उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अधीनस्थ एवं लोक सेवा आयोग से सम्पर्क करके लम्बित अधियाचनों विशेष रूप से नर्सिंग के पद को शीघ्र भरने का अनुरोध करें।


मुख्यमंत्री ने असाध्य रोग नियमावली में किए गए संशोधन के तहत सभी मेडिकल काॅलेजों में विभागाध्यक्ष स्तर पर समिति के गठन का कार्य तत्परता के साथ करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस नियमावली के तहत सभी राजकीय मेडिकल काॅलेजों को धनराशि आवंटित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अनुरक्षण के लिए आवश्यक धनराशि चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा सभी जरूरी कार्रवाई पूरी करते हुए अगले 15 दिन के अन्दर उपलब्ध करा दी जाए।


कानपुर मेडिकल काॅलेज की समीक्षा के दौरान यह जानकारी मिलने पर कि यहां पर स्थापित एमआरआई मशीन की पीपीपी के आधार पर संचालन की अवधि समाप्त हो गई है, श्री यादव ने वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल नई निविदा पर निर्णय लेने का निर्देश दिया है। उन्होंने कानपुर मेडिकल काॅलेज के प्रधानाचार्य को निर्देशित किया कि यहां पर स्थापित


किए जा रहे न्यूरोलाॅजी सेण्टर को हर हाल में 2 सितम्बर, 2016 तक क्रियाशील कर दिया जाए। साथ ही, उन्होंने चिकित्सा शिक्षा विभाग को निर्देशित किया कि इस सेण्टर हेतु आवश्यक पदों के सृजन की कार्यवाही अगले तीन सप्ताह में पूरी कर ली जाए। उन्होंने आईसीयू तथा अन्य इकाइयों में स्थापित किए गए उपकरणों को 25 जुलाई, 2016 तक क्रियाशील करने के भी निर्देश दिए।


राजकीय मेडिकल काॅलेज, आगरा की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने सर्जरी एण्ड एलाइड स्पेशियलिटी एवं उसमें माॅड्यूलर ओटी की स्थापना से सम्बन्धित समस्त कार्यवाही, जिसमें उपकरण एवं मानव संसाधन शामिल हैं, को दीपावली, 2016 तक क्रियाशील करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस काॅलेज में कराए जा रहे जीर्णोद्धार/रिनोवेशन कार्य 31 अक्टूबर, 2016 तक पूर्ण कराए जाने के भी निर्देश देते हुए कहा कि रेडियो डायग्नोसिस का कार्य शीघ्रता से कराया जाए, ताकि एमआरआई मशीन की स्थापना हो सके। उन्होंने समस्त उपकरण 31 अक्टूबर, 2016 तक क्रियाशील करने के निर्देश भी दिए।


झांसी स्थित राजकीय मेडिकल काॅलेज की समीक्षा के दौरान श्री यादव ने निर्देश दिए कि यहां पर निर्मित कराए जा रहे 500 बिस्तर वाले चिकित्सालय भवन का निर्माण कार्य 31 अक्टूबर, 2016 तक पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने इस मेडिकल काॅलेज के लिए आवश्यक फर्नीचर तथा उपकरण भी इस तिथि तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री ने मेरठ स्थित राजकीय मेडिकल काॅलेज के कार्यों की समीक्षा करते हुए माॅड्यूलर ओटी, लेक्चर थियेटर एवं केन्द्रीय पुस्तकालय का निर्माण आगामी 15 नवम्बर, 2016 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने जीर्णोद्धार/रिनोवेशन इत्यादि कार्याें को 31 अक्टूबर, 2016 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस मेडिकल काॅलेज में स्थापित किए गए उपकरणों को 31 जुलाई, 2016 तक क्रियाशील करने के निर्देश भी उन्होंने दिए।


श्री यादव ने जनपद गोरखपुर के राजकीय मेडिकल काॅलेज के कार्याें की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि यहां पर स्थापित किए जा रहे 500 शैय्या और 14 तल वाले बाल रोग चिकित्सा संस्थान के ग्राउण्ड तल सहित 5 तलों का निर्माण 31 अक्टूबर, 2016 तक पूर्ण कर लिया जाए और इसको क्रियाशील करने के लिए आवश्यक पदों का सृजन, कार्मिकों, फर्नीचर तथा उपकरणों की व्यवस्था अभी से कर ली जाए, ताकि इसका लोकार्पण किया जा सके। उन्होंने चिकित्सा शिक्षा विभाग को यहां पर संचालित होने वाले फार्मेसी, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल से सम्बन्धित कोर्सेज के विषय में शीघ्र निर्णय लेने के निर्देश दिए। उन्होंने काॅलेज में स्थापित किए गए सभी उपकरण 31 जुलाई, 2016 तक क्रियाशील करने के निर्देश दिए। उन्होंने कोबाल्ट थेरेपी के लिए इंस्टाॅल की गई मशीन को 11 जुलाई, 2016 तथा ब्रेकीथेरेपी मशीन को 30 जुलाई, 2016 तक क्रियाशील करने के निर्देश भी दिए।


समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने इलाहाबाद के राजकीय मेडिकल काॅलेज में कराए जा रहे माॅड्यूलर ओटी के उच्चीकरण के कार्य को 30 जुलाई, 2016 तक पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने ट्राॅमा सेण्टर को 30 सितम्बर, 2016 तक पूर्ण कराकर उसे अक्टूबर, 2016 में क्रियाशील करने के भी निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेशवासियों को अच्छी एवं प्रभावी चिकित्सा सुविधाएं देने के लिए संकल्पबद्ध है। प्रदेश के सभी सरकारी चिकित्सालयों में लोगों को मुफ्त में इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। राज्य सरकार द्वारा सरकारी अस्पतालों में सभी प्रकार की जांचें निःशुल्क कर दी गई हैं, जिसका लाभ बड़ी संख्या में लोगों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा एवं ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस गरीबों और जरूरतमन्दों के लिए वरदान साबित हुई है। स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए राज्य सरकार लगातार जरूरी कदम उठाती रहेगी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top