Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बच्चो ने प्रेस कांफ्रेंस कर भारी बस्तों के बोझ से आज़ादी माँगी

 Sabahat Vijeta |  2016-08-25 19:00:41.0

bags-main


मुम्बई. महाराष्ट्र के चन्द्रपुर में दो स्कूली बच्चों ने अपने भारी स्कूल बैग का वजन कम करने की मांग को लेकर मंगलवार को प्रेस क्लब पहुंचकर सीधे प्रेस कांफ्रेंस कर डाली और सरकार से इस ओर ध्यान देने की अपील की. साथ ही इन बच्चों ने सरकार को चेतावनी भी दी की अगर उनके स्कूल बैग का वज़न कम नहीं किया गया तो यह दोनों अपने स्कूल के बाहर अनशन पर बैठ जायेंगे.


चन्द्रपुर के विद्या निकेतन स्कूल में पढ़ने वाले इन दो बच्चों ने कुछ ऐसा किया जिसने ना सिर्फ पूरे राज्य बल्कि पूरे देश का ध्यान बच्चों के कन्धों पर रखे बैग के बाहरी बोझ की तरफ खींच दिया. ऋग्वेद राहिकवार और परितोष खांडेकर नाम के यह वह दो लड़के हैं जो मंगलवार को शहर के प्रेस क्लब में सीधे अपने भारी बैग लेकर पहुंचे थे.


सातवीं कक्षा में पढ़ने वाले 12 साल के यह दोनों बच्चों ने अपने स्कूल के भारी बैग के वजन को लेकर कई बार अपने स्कूल के प्रिंसिपल से शिकायत की और बैग का वजन कम करने की मांग की लेकिन कुछ नहीं हुआ इसलिए तंग आकर इन दोनों ने आज प्रेस से सम्पर्क साधा. इन दोनों का आरोप है कि इनके बैग का वज़न 16 -17 किताबों की वजह से 8-9 किलो हो जाता है. स्कूल की दूसरी मंजिल पर इनके क्लास में जाने पर रोजाना इन्हें काफी दर्द झेलना पड़ता है. वही बच्चों के परिवार वालों का भी आरोप है कि स्कूल से कई बार बैग के कारण बच्चों को हो रही मुश्किल के बारे में स्कूल को बताया गया लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया. बच्चों को आये दिन कंधे में दर्द की शिकायत भी होती है.


उधर स्कूल प्रशासन ने कहा कि बच्चों के बैग के बोझ को कम करने के लिए कई कदम उठाये गए हैं. इन दोनों बच्चों ने इससे पहले बैग के ज्यादा भार से होने वाली मुश्किल के बारे में कुछ नहीं बताया. हम इस समस्या का जल्द समाधान निकालेंगे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top