Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बुन्देलखंडी किसानो की कर्ज माफ़ी से केंद्र का साफ़ इंकार

 Tahlka News |  2016-05-09 14:14:26.0

sookha kisan

नयी दिल्ली. सूखे से फटती धरती और प्रकृति की मार से कराहते बुंदेलखंड के किसानो को केंद्र सरकार ने बड़ा झटका दे दिया है. बुंदेलखंड के किसानों को इस बुरे हाल में भी बैंक का कर्ज अदा ही करना पड़ेगा. केंद्र सरकार ने इसे माफ करने की मांग को तमाम अड़चनें बताकर ठुकरा दिया है.

वित्त राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का हवाला देकर कहा है कि ऋण माफी से वसूली का वातावरण खराब होता है. इसके घातक परिणाम होते हैं.


इस साल पड़े जबरदस्त सूखे और पिछली फसलों में ओला और बेमौसम की बारिश जैसी कुदरत की मार से बुंदेलखंड में फसलों को भारी नुकसान हुआ था. इससे किसानों की रीढ़ टूट गई.

बांदा से सपा के राज्यसभा सांसद विशंभर प्रसाद निषाद ने हाल ही में राज्यसभा में बुंदेलखंड के किसानों का मुद्दा उठाकर किसानों के कर्ज माफ करने की मांग की थी.

इस पर केंद्र सरकार के वित्त राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने विशंभर प्रसाद निषाद को भेजे पत्र में कहा है कि किसानों की ऋण माफी के बारे में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) का मानना है कि इस तरह की कर्जमाफी वसूली और कर्ज के वातावरण को विपरीत रूप से प्रभावित करती है. इसके घातक प्रणालीगत परिणाम होते हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top