Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

वाराणसी सत्संग हादसा: पहले इंसान अब जानवरों की जा रही है जान

 Anurag Tiwari |  2016-10-18 03:08:19.0

varanasi, वाराणसी, समागम, हादसा, भगदड़, stampede, jai gurudev

तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी. जयगुरुदेव आध्यमिक समागम पर मंडरा रहा मौत का साया 25 लोगों की जिंदगियां लेने के बाद भी शांत नहीं हुआ है. इंसानों के बाद अब इस जगह पर जानवर मरने शुरू हो गए हैं. सोमवार को इस इलाके में 19 मवेशियों की मौत हो गई है और कई मवेशी बीमार भी हैं. समागम स्थल के आसपास डोमरी और कटेसर गांव में मवेशियों की मौत से हड़कंप की स्थिति है.

बीते शनिवार से डोमरी और कटेसर गांव के गंगा किनारे दो दिवसीय आध्यमिक सत्संग का आयोजन किया गया था.  इस दौरान  अलग अलग प्रांतों से लाखों की संख्या में जयगुरुदेव के अनुयायी आए थे. यहां दो दिन तक टेंटों में अनुयायी ठहरे. रविवार को कार्यक्रम के अंतिम दिन भंडारा का आयोजन हुआ.


सोमवार को अनुयायियों के यहां से जाने के बाद इलाके में चरने के लिए आए मवेशियों की एक के बाद एक मौत होने लगी.  कुछ घंटे में ही कटेसर के 14 गाय और भैंसों की मौत हो गई.

डोमरी के मदनलाल शर्मा की एक भैंस व एक गाय बीमार है.  यहीं के मूराहू यादव एक भैंस की मौत हो गई और सात बीमार हैं.  दयाराम की एक गाय, राजकुमार सोनकर की एक गाय व शंकर की एक गाय की मौत हो गई.  शंकर की एक गाय बीमार है. मामला जयगुरुदेव से जुड़े होने के चलते कोई भी इसकी शिकायत करने को तैयार नहीं है. पीड़ित पशु पालक अब कह रहे हैं कि बचे भोजन के साथ कचरा खाने के कारण ही उनके मवेशी मरे हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top