Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

काशी को 2019 तक मिल जाएगा टाटा मेमोरियल जैसा कैंसर इंस्टिट्यूट

 shabahat |  2017-01-07 13:02:04.0

Varanasi, वाराणसी, बनारस, काशी, Banaras, Kashi, Tata Memorial Hospital, Mahamana Malviya Cancer Hospital and Research Institute, IMS, BHU


तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी. महादेव की नगरी में भी मुंबई स्थित टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल जैसा कैंसर हॉस्पिटल बनेगा. इसके लिए टाटा हॉस्पिटल की टीम शहर के सुन्दर बगिया स्थित जमीन पर बनने वाले महामना मालवीय कैंसर हॉस्पिटल ऐंड रिसर्च इंस्टीट्यूट निर्माण सम्बन्धी संभावनाओं को देखने पहुंची.

इस टीम का नेतृत्व कर रहे टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के एकेडमिक निदेशक डॉ. कैलाश शर्मा ने बताया कि बीएचयू सुंदर बगिया में बनने वाला महामना मालवीय कैंसर हॉस्पिटल ऐंड रिसर्च इंस्टीट्यूट
, टाटा हॉस्पिटल के पैटर्न पर बनेगा. यहां भी वही सारी सुविधाएं उपलब्ध होंगी जो कैंसर के पेशेंट्स को मुम्बई में मिलती हैं. ख़ास बात यह है कि इंस्टीट्यूट टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के डॉक्टर्स और ऑफिसर्स अधिकारियों की देखरेख में बनेगा और संचालन भी टाटा मेमोरियल की टीम की देखरेख में होगा.

बीते गुरुवार टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के 7 मेम्बर्स की टीम वाराणसी पहुंची थी. इस टीम में
आईएमएस बीएचयू
से ही पढ़े डॉ पंकज चतुर्वेदी, डॉ. राजेंद्र बड़वे
, डॉ. राजेश दीक्षित, डॉ. पुष्पांजलि, डॉ. धनोज, डॉ. अबोनम शामिल थे. इस टीम ने आईएमएस के रजिस्ट्रार डॉ. केपी उपाध्याय, डायरेक्टर आईएम प्रो. वीके शुक्ला, सरसुंदर लाल अस्पताल के सुप्रिटटेंडेंट डॉ. ओपी उपाध्याय के साथ इंस्टिट्यूट के निर्माण के संबंध में विस्तार से चर्चा की.

डॉ पंकज चतुर्वेदी ने tahlkanews.com से बात करते हुए बताया कि
580 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले में इलाज के साथ-साथ कैंसर रोगियों के डाटा कलेक्शन का काम भी होगा. इससे उत्तर भारत के कैंसर रोगियों का के डेटाबेस तैयार किया जा सकेगा. उन्होंने बताया कि इस इंस्टिट्यूट के निर्माण का काम 2019 के अंत तक पूरा हो जाएगा. उन्होंने बताया कि इस इंस्टिट्यूट के बन जाने से यूपी और बिहार के कैंसर पेशेंट्स को मुंबई की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी और उन्हें टाटा मेमोरियल जैसी सुविधाएं वाराणसी में ही उपलब्ध हो जाएंगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top