Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

एसी से नहीं हुआ बीएचयू में विस्फोट : इंजीनियर

 Tahlka News |  2016-05-08 17:40:17.0

08_05_2016-08-05--up--3तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ: स्मार्ट पुलिसिंग के दावे को सीधे सीधे चुनौती दे रहा है बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के आपात चिकित्सा कक्ष में कल दोपहर हुआ विस्फोट। पूरे शहर को झकझोर कर रख देने वाली घटना के लगभग 30 घंटे बीतने के बाद भी विस्फोट कैसे हुआ, यह पता नहीं किया जा सका है। विस्फोट की बाबत पुलिस को कोई तहरीर भी नहीं मिली है।

एंटी टेररिस्ट स्क्वायड के एएसपी संतोष सिंह ने आज भी घटनास्थल का निरीक्षण किया और विस्फोट एसी पाइप लाइन में होने की ही बात दोहराई। कहा कि अब तक की जांच में बारूद के अंश नहीं मिले हैं। हालांकि, अवशेषों की जांच कराई जा रही है। एसटीएफ की टीम ने भी जांच की और विस्फोट की बाबत किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकी। पुलिस ने हादसे के दूसरे दिन इमरजेंसी वार्ड में लगे सीसीटीवी कैमरे की हार्ड डिस्क को कब्जे में लिया। सीसीटीवी कैमरे से भी पुलिस को ऐसा कोई सुराग हाथ नहीं लगा, जिससे वह कोई निष्कर्ष पर पहुंच पाती। पुलिस के मुताबिक गत 27 अप्रैल को भी एसी पाइप लाइन में खराबी आई थी। उस समय इस पर ध्यान नहीं दिया गया। इस बारे में तकनीकी विशेषज्ञों से राय ली जा रही है। उधर, अस्पताल में जिस कंपनी का एसी प्लांट लगा है, उसके इंजीनियर ने दावा किया कि अगर ऐसे 10 एसी का कंप्रेशर भी फटे तो इतना असरकारी नहीं हो सकता, जितना शनिवार को हुआ। अगर पाइपलाइन भी फटती है तो इसमें निकलने वाली हवा आदमी को सिर्फ हिला सकती है, गिरा नहीं सकती। यहां तो पूरी दीवारें व मोटे बीम भी गिर गई हैं।


25 घायलों में 18 को छुट्टी
सर सुंदरलाल अस्पताल में रविवार को सब कुछ सामान्य था। नई इमरजेंसी बिल्डिंग में 12 घायलों का इलाज किया जा रहा था, जिनमें 11 की स्थिति को बेहतर देखते हुए छुट्टी दे दी गई। अश्वनी नामक एक घायल की स्थिति गंभीर है। ट्रामा सेंटर में भर्ती 13 घायलों में से सात को रविवार को डिस्चार्ज कर दिया गया। दो घायलों का इलाज ट्रामा सेंटर की आइसीयू में चल रहा है, जबकि बाकी को सर सुंदरलाल अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top