Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

#Assembly elections: जल्‍द फाइनल होंगे बीजेपी उम्‍मीदवार, पंकज सिंह के नाम पर है संशय

 Girish |  2017-01-10 06:24:51.0



तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
लखनऊ:
पांच राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी इसी हफ्ते आधे से ज्‍यादा उम्‍मीदवारों के नाम फाइनल कर सकती है। सूत्रों की माने तो दिल्‍ली में केंद्रीय चुनाव समिति की पहली बैठक बुधवार को की जाएगी। इसके बाद 15 और 17 जनवरी को भी बैठक बुलाने पर विचार किया जा रहा है।

मोदी के ग्रीन सिग्‍नल का है इंतजार
हालांकि, इसके लिए अभी पीएम मोदी के ग्रीन सिग्‍नल का इंतजार किया जा रहा है। बैठक में खुद पीएम मोदी के भी हिस्‍सा लेने की उम्‍मीद है। वहीं, दो राेज पहले ही खत्‍म हुई बीजेपी की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी में पीएम मोदी ने पार्टी के तमाम नेताओं को दो टूक नसीहत दी कि वे अपने बेटे, बेटियों या अन्‍य रिश्‍तेदारों को विधानसभा चुनाव में टिकट देने के लिए दबाव न बनाएं। इसे गृहमंत्री के बेटे पंकज सिंह की यूपी से टिकट की दावेदारी से जोड़कर देखा जा रहा है।


पार्टी पंकज को टिकट देने की मूड में नहीं
दरअसल, पिछले कई चुनावों से बीजेपी की अंदरुनी राजनीति में राजनाथ सिंह को चोट पहुंचाने का जरिया पंकज सिंह सिंह को टिकट न देना बनता जा रहा है। पकंज सिंह यूपी में प्रदेश महासचिव हैं। पिछले कई विधानसभा चुनाव में टिकट के लिए उनका दावा होता है। यूपी की स्‍थानीय राजनीति में पकंज के विरोधी समझे जाने वाले कई युुवा नेताओं को पार्टी लगातार टिकट देती रही है। लेकिन पंकज पर उसकी खामोशी रहती है। अब जब चुनाव के ऐन मौके पर पीएम का यह बयान आया है तो पाॅलिटिकल सर्किल में कहा जा रहा है कि पार्टी इस बार भी पंकज सिंह को टिकट देने की मूड में नहीं है।

जहां विवाद नहीं वहां पहले तय हाेंगे कैंंडिडेट
बीजेपी के एक सीनियर लीडर के मुताबिक पार्टी की कोशिश होगी कि सबसे पहले उन सीटों पर कैंडिडेट के नाम फाइनल किए जाएं, जहां किसी तरह का विवाद नहीं है। इसकी शुरूआत पंजाब और और मणिपुर से हो सकती है।

केंद्रीय चुनाव समिति फाइनल करेगी नाम
यूपी से जुड़े बीजेपी के एक टॉप लीडर का कहना है कि यूपी से लगभग 15 हजार टिकट चाहने वालों ने आवेदन किया है। मंगलवार को लखनऊ में होने वाली चुनाव समिति की बैठक में ही काफी नाम छंट जाएंगे और हर सीट पर एक से तीन या अधिकतम चार नाम ही होंगे। उनमें से एक नाम दिल्‍ली की केंद्रीय चुनाव समिति फाइनल करेगी।

जीते कैंडिडेट को मिलेगा टिकट
वहीं, पजांब से जुड़े नेताओं का कहना है कि वहां लगभग तय ही है पिछली बार जीते 11 कैंडिडेट में से अधिकांश को फिर से टिकट दिया जाएगा। बाकी 12 कै‍ंडिडेट का चयन किया जाना है। इन उम्‍मीदवारों का चयन पहली बैठक में ही हो जाएगा।

उत्‍तराखंड में हो सकती है कठिनाई
उत्‍तराखंड में जरूर कैंडिडेट के चयन में कुछ कठिनाई हो सकती है। क्‍योंकि वहां भी टिकट चाहने वाले ज्‍यादा हैं। इसकी दूसरी वजह यह भी है कि उत्‍तराखंड में कांग्रेस से शामिल हुए नेताओं को टिकट देने का मामला फंसा हुआ है। जिन सीटों पर कांग्रेस से आए नेता दावा कर रहे हैं। वहां पहले से काम कर रहे बीजेपी के नेता कड़ा विरोध कर रहे हैं और लगातार दिल्‍ली में सीनियर नेताओं से मिलकर अपना दावा पेश कर रहे हैं।



  Similar Posts

Share it
Top