Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

छिन सकती है बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह की सदस्यता

 Tahlka News |  2016-03-19 15:30:17.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
मुंबई, 19 मार्च. बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह की संससद सदस्यता खतरे में है। ऐसा इसलिए क्योंकि लोकसभा चुनाव 2014 लड़ने के दौरान सत्यपाल ने सरकारी देनदानी के आंकड़े को निर्वाचन आयोग से छिपाया था। इस बात का खुलासा मुंबई के आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने किया है। उन्होंने मामले की लिखित शिकायत लोकसभा अध्यक्ष, पीएम मोदी और चुनाव आयोग से की है। इसके साथ ही उन्होंने सत्यपाल की सदस्यता को रद्द करने की भी मांग की है।


बीजेपी सांसद ने माननीयों को बनाया उल्लू
आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने अपने लिखित शिकायत में इस बात की विस्तृत जानकारी दी है कि किस तरह से बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने जनता और चुनाव आयोग सहित कई माननीयों को उल्लू बनाया। बता दें कि, सत्यपाल सिंह ने मुंबई के पुलिस कमश्निर पद से इस्तीफा देकर यूपी की बागपत सीट से 2014 में लोकसभा का चुनाव लड़ा था। वहीं, चुनाव आयोग ने जारी किए हुए हैंडबुक में उम्मीदवारों को आपराधिक मामले, प्रलंबित मामले, संपत्ति, देनदारी और शैक्षणिक योग्यता का ब्यौरा देने के लिए कहा था। इसी के तहत नियम क्रमांक 3 के अनुक्रमांक 4 में सरकारी वित्तीय संस्थान और सरकारी बकाया की देनदारी का ब्यौरा भी शामिल था। ऐसे में सत्यपाल सिंह ने उम्मीदवारी अर्जी पेश करने के दौरान सरकारी बकाया देनदारी को सार्वजनिक नहीं किया था।


48 हजार रुपए नहीं दिया जुर्माना
मुंबई के पाटलीपुत्र सहकारी गृहनिर्माण संस्था में स्थित फ्लैट सत्यपाल सिंह ने किराए पर तो दिया, लेकिन आज तक 48,420 रुपए जुर्माना की रकम अदा नहीं की। इसके साथ ही सरकारी बकाया देनदारी की जानकारी को उम्मीदवारी अर्जी पेश करने के दौरान सार्वजनिक नहीं किया। हकीकत तो ये है कि सत्यपाल ने 10 वर्षों से फ्लैट को किराए पर देकर नियमों का उल्लंघन तो किया ही और साथ ही फ्लैट को बिना अनुमति किराए पर देकर लाखों रुपए की कमाई भी की। सत्यपाल के फ्लैट में ही 2 जून 2014 को सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ भी हुआ था। बता दें कि अनिल गलगली की शिकायत के बाद सत्यपाल सिंह संकट में आ गए है और उनकी संसद की सदस्यता रद्द होने के रास्ते पर है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top