Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बिसाहड़ा कांड: तनाव के चलते जेलर एसके पांडेय का लखनऊ मुख्यालय तबादला

 Abhishek Tripathi |  2016-10-07 04:23:56.0

bishada_caseतहलका न्यूज ब्यूरो
ग्रेटर नोएडा. दादरी के बिसाहड़ा गांव के अखलाक की हत्या के आरोप में लुक्सर जेल में बंद आरोपी रवि की संदिग्ध परिस्थतियों में मौत के दो दिन बाद शासन बैकफुट पर आ गया। ग्रामीणों में भारी आक्रोश को देखते हुए आनन-फानन में शासन ने लुक्सर जेल में तैनात जेलर एसके पांडेय का लखनऊ मुख्यालय तबादला कर दिया गया है।


बता दें कि, दादरी के बिसाहड़ा गांव के इकलाख की हत्या के आरोप में लुक्सर जेल में बंद आरोपी रवि के शव को ग्रामीणों ने तिरंगा में लपेट कर रखा है। ग्रामीणों का मानना है कि रवि शहीद की श्रेणी में आता है। उसने हिंदुओं के मूल्यों की रक्षा करते हुए अपने प्राण दिए हैं। ग्रामीणों का यह तर्क भले ही प्रशासन के गले न उतरे, लेकिन ग्रामीणों ने उसे शहीद का दर्जा दे दिया है। यही कारण है कि उसके शव को तिरंगे में लपेट कर वह अपनी मांग पर अड़े हैं। उसके शव को तिरंगे में देखकर गांव में तैनात पुलिसकर्मी भी चकित में हैं। हालांकि अभी प्रशासन ने इस पर कोई ऐतराज नहीं जताया है।


CBI जांच के लिए तैयार है यूपी सरकार
बिसाहड़ा कांड के आरोपी युवक रविन की न्यायिक हिरासत में हुई मौत के मामले में यूपी सरकार सीबीआई जांच के लिए तैयार है। गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी एनपी सिंह ने बताया कि अगर रविन के परिजन न्यायिक जांच से सन्तुष्ट नहीं हैं तो सीबीआई जांच करवाई जा सकती है। वहीं, डीएम ने बताया कि न्यायिक जांच शुरू हो गई है। गौतम बुद्ध नगर के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जांच कर रहे हैं। इसके बावजूद अगर उन्हें भरोसा नहीं है तो सीबीआई जांच के लिए सरकार सिफारिश कर देगी। ऐसे में सीएम अखिलेश यादव ने रवि की पत्नी पूजा को 10 लाख रूपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा कर दी है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top