Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बड़े सपने देखने होंगे क्योंकि...

 Sabahat Vijeta |  2016-07-27 18:22:03.0

????????????????????????????????????


  • सस्टेनेबिल एण्ड इन्क्लूसिव डेवलपमेण्ट एण्ड ग्रोथ’ पर सभी को मिलकर काम करना होगा: मुख्यमंत्री

  • समाजवादी हमेशा नौजवानों का बहुत आदर करते हैं: मुख्यमंत्री

  • ‘इन्क्लूसिव एण्ड सस्टेनेबिल ग्रोथ’ तथा नौजवान समाजवाद से जुड़े हुए हैं

  • किसी भी देश-प्रदेश की प्रगति एवं उसके विकास के लिए अच्छी शिक्षा बहुत आवश्यक सम्पूर्ण विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सबको मिलकर चलना होगा: कैलाश सत्यार्थी

  • डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम जैसा सच्चा इन्सान नहीं देखा: मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री ने दो-दिवसीय डाॅ. कलाम स्मारक अन्तर्राष्ट्रीय ‘युवा संगोष्ठी’ के समापन सत्र को सम्बोधित किया


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि ‘सस्टेनेबिल एण्ड इन्क्लूसिव डेवलपमेण्ट एण्ड ग्रोथ’ पर सभी को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि देश को तरक्की के रास्ते पर आगे ले जाने के लिए नौजवानों को बड़े सपने देखने होंगे। यदि करोड़ों नौजवान एक-जुट हो जाएं तो कोई भी सपना पूरा किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि समाजवादी हमेशा नौजवानों का बहुत आदर करते हैं, क्योंकि वे समाजवादी होते हैं। उन्होंने कहा कि ‘इन्क्लूसिव एण्ड सस्टेनेबिल ग्रोथ’ तथा नौजवान समाजवाद से जुड़े हुए हैं।


मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, उ.प्र. तथा डाॅ. कलाम सेण्टर के तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय डाॅ. कलाम स्मारक अन्तर्राष्ट्रीय ‘युवा संगोष्ठी’ के समापन सत्र को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि हमें प्रदेश के गांवों तथा गरीबों तक विकास का लाभ पहुंचाने की दिशा में काम करना होगा। गरीबों की संख्या गांवों में बहुत बड़ी है और उनकी अपनी समस्याएं भी होती हैं। उन्होंने कहा कि उनके विकास के लिए हमें एक ब्लू प्रिन्ट तैयार करना होगा, ताकि प्रदेश प्रगति के रास्ते पर अग्रसर हो सके।


श्री यादव ने कहा कि किसी भी देश-प्रदेश की प्रगति एवं उसके विकास के लिए अच्छी शिक्षा बहुत आवश्यक है। इसके दृष्टिगत हमें अपनी शिक्षा व्यवस्था सुधारनी होगी और इस पर लगातार काम करना होगा। उन्होंने कहा कि बच्चों को हर हाल में अच्छी शिक्षा उपलब्ध करानी होगी, तभी सम्पूर्ण विकास का सपना पूरा होगा। राज्य सरकार इस दिशा में निरन्तर काम कर रही है। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही समाजवादी पेंशन योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इस योजना का उपयोग गांव की महिलाएं अपने बच्चों की शिक्षा में कर रही हैं। यह योजना अपने मकसद में पूरी तरह से सफल है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं एवं महिलाओं की सहायता के दृष्टिगत रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष का गठन किया गया है और इसके लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था भी की गयी है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए पिछले 4 साल से लगातार काम कर रही है, जिसके परिणाम अब दिखाई देने लगे हैं। उन्होंने कहा कि देश का सबसे लम्बा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे समाजवादी सरकार द्वारा निर्मित कराया जा रहा है और यह कार्य 22 महीने के समय में पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेस-वे प्रदेश के किसानों और गरीबों के लिए खुशहाली का एक्सप्रेस-वे साबित होगा और उनकी समृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे प्रदेश की तस्वीर बदल देगा।


श्री यादव ने पूर्व राष्ट्रपति डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम को याद करते हुए कहा कि उनके जैसा सच्चा इन्सान उन्होंने नहीं देखा। वे बच्चों में बेहद लोकप्रिय थे। उन्होंने कहा कि डाॅ. कलाम ने लोगों को पीने का पानी, बिजली, आईटी के माध्यम से लोगों को सुविधाएं मुहैया कराने इत्यादि के सम्बन्ध में कई सुझाव दिये थे, जिस पर राज्य सरकार ने काम किया और उनको सच्चाई में बदल दिया। उन्होंने कहा कि डाॅ. कलाम ने ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीबों को सोलर इनर्जी का उपयोग करते हुए उन्हें बिजली मुहैया कराने का सुझाव दिया था। राज्य सरकार ने इस पर कार्य करते हुए फर्रुखाबाद जनपद के 2 गांवों को सोलर इनर्जी से रौशन कर दिया और आज भी उन्हें निःशुल्क बिजली उपलब्ध करायी जा रही है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि डाॅ. कलाम ने पर्यावरण तथा नदियों की सफाई इत्यादि के सम्बन्ध में जो सुझाव दिये थे उन्हें राज्य सरकार ने स्वीकार किया और उन पर काम किया। उन्होंने कहा कि हाल ही में अभियान चलाकर राज्य में 5 करोड़ पौधों का रोपण करवाया गया है। राज्य सरकार के इस प्रयास की देश और विदेश में सराहना हो रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नदियों की साफ-सफाई और पर्यावरण संतुलन की दिशा में लगातार काम कर रही है।


श्री यादव ने कहा कि डाॅ. कलाम ने अपने लखनऊ आगमन के दौरान राज्य सरकार द्वारा बनवाये जा रहे साइकिल ट्रैक्स को देखने के बाद इस कार्य की बहुत प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि साइकिल एक ऐसा वाहन है, जिसके उपयोग से पर्यावरण प्रदूषण से रहित है, साथ ही, यह स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है।


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि सम्पूर्ण विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सबको मिलकर चलना होगा। उन्होंने कहा कि हमें एक अच्छे समाज का निर्माण करना है, जिसमें समावेशी विकास और प्रगति सम्भव हो। उन्होंने ‘4-पी’ का जिक्र करते हुए कहा कि पीपुल, प्लेनेट, प्राॅस्पैरिटी तथा पीस की दिशा में हम सबको काम करना होगा, तभी हम विकसित समाज का निर्माण कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि इन्हें बचाने के लिए दूरदर्शी और साहसी नेतृत्व की जरूरत है। उन्होंने मुख्यमंत्री की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे अच्छे फैसलों पर तुरन्त काम करते हैं।


कार्यक्रम को मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि गांवों तथा गरीबों की समस्याओं का त्वरित निदान सुनिश्चित किया जा रहा है। गांवों की साफ-सफाई पर भी काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर अधिकारी गांवों के भ्रमण पर जाएंगे और उनके फैसले पर तुरन्त अमल सुनिश्चित करेंगे। कार्यक्रम को मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री को आयोजकों की ओर से एक स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया।


कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने वेबसाइट ‘कलाम चैलेंज तथा कलाम प्रोजेक्ट को भी लाॅन्च किया। उन्होंने ‘व्हाट कैन आई गिव’ नामक पुस्तक का विमोचन भी किया। इस अवसर पर उन्होंने कैलाश सत्यार्थी, सुश्री दीया मिर्ज़ा, अरुणाचलम, अंशु गुप्ता, संजय कुमार, योगेन्द्र कुमार यादव, डाॅ. एस.बी. मजूमदार तथा क्रिकेटर जवगल श्रीनाथ को सम्मानित भी किया।


इस अवसर पर सांसद श्रीमती डिम्पल यादव, राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, प्राविधिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) फरीद महफूज़ किदवई, व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री अभिषेक मिश्रा सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी तथा गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top