Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भोपाल इनकाउन्टर पर उठे गंभीर सवाल, ओवैसी को एनआईए पर भरोसा नहीं

 Sabahat Vijeta |  2016-10-31 14:35:27.0

bhopal-incounter


तहलका न्यूज़ ब्यूरो 


लखनऊ. भोपाल में आज हुए इनकाउन्टर की विश्वसनीयता पर गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं. भोपाल की हाई सेक्युरिटी जेल से सिमी के कथित आठ आतंकी कैसे फरार हो गए इस पर भी सवाल खड़े किये गए हैं.


एआईएमआईएम के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाया है कि आखिर 35 फुट ऊंची दीवार किस तरह से फांदी गई जो कहीं सीसीटीवी फुटेज का हिस्सा नहीं बनी. उन्होंने कहा कि अगर जेल का सीसीटीवी खराब है तो यह और भी गंभीर सवाल है. जिस जेल में इतने गंभीर किस्म के कैदी बंद हों वहां का सीसीटीवी खराब कैसे हो सकता है.


उन्होंने कहा कि इनकाउन्टर का वीडियो सामने आने के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि फरार होने वाले एक शख्स के पाँव में चोट थी और वह लंगड़ा कर चल रहा था. एक शख्स के पास से मरने के बाद चाकू मिला है. इसके अलावा किसी और हथियार की बरामदगी नहीं हुई है ऐसे में फरार कैदियों को जिंदा क्यों नहीं पकड़ा गया. उन्हें मार डालने की ज़रुरत क्यों पड़ी.


कहा यह भी जा रहा है कि इस तरह के इनकाउन्टर के ज़रिये समाज में भय पैदा करने की कोशिश की जा रही है. लोगों के दिलों में कानून के प्रति इज्ज़त घटाने की कोशिश है यह. जब सजा देने का हक कानून के पास है तो फिर पुलिस निहत्थे पर गोलियां कैसे बरसा सकती है.


भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन का इस मुद्दे पर कहना है कि फरार आतंकी क्योंकि एक सेक्योरिटी गार्ड की हत्या करके भागे थे. और उनके मरने से पहले पुलिस को यह पता नहीं था कि उनके पास असलहे हैं या नहीं. ऐसे में पुलिस के पास उन्हें मार देने के सिवाय कोई और विकल्प नहीं था.


एक टीवी चैनल पर चल रहे वीडियो में भी यह स्पष्ट है कि फरार कैदी एक पहाड़ी पर पुलिस से घिरे नज़र आ रहे हैं. उनके भाग जाने का कोई रास्ता नज़र नहीं आ रहा है. एक पुलिस कर्मी वायरलेस पर अपने अधिकारी को बताता है कि फरार आतंकी नज़र आ गए हैं अब क्या निर्देश है. इस वीडियो में उनके मारे जाने के बाद की तलाशी में एक चाकू के सिवाय कुछ नज़र नहीं आता है.


मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस वीडियो के सामने आने के बाद घटना की एनआईए से जांच कराने का एलान कर दिया है. हालांकि रात में मध्य प्रदेश पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर आतंकियों के पास से हथियारों की बरामदगी और इनकाउन्टर से पहले पुलिस पर गोली चलाने की बात कही है. उधर ओवैसी ने एनआईए जांच पर भरोसा करने से इनकार कर दिया है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top