Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भारत बंद: लखनऊ में 60 अरब का व्यापार प्रभावित

 Tahlka News |  2016-04-04 16:03:21.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ, 4 अप्रैल. राजधानी में कई दिनों से चल रही सर्राफा हड़ताल को बड़ा बनाने के लिए सोमवार को सारे व्यापारि‍यों ने एक साथ महाबंद कि‍या। इस मौके पर दवा दुकानें छोड़कर सारी दुकानें बंद रहीं। इससे राजधानी में करीब 50 से 60 अरब रुपए के व्यापार पर ब्रेक लग गया।


ट्रेडर्स एसोसिएशन के राजाजीपुरम एरिया के अध्यक्ष उमेश शर्मा ने बताया कि सोमवार को सर्राफा व्यापारियों की हड़ताल के समर्थन में विरोध करने के लिए सभी व्यापारियों ने बाइक पर बैठकर पूरी मार्केट का चक्कर लगाया और केडी सिंह बाबू स्टेडियम पर दोपहर 12 बजे पहुंचे। इसके बाद वहां राजधानी के सारे व्यापारी संगठनों के पदाधिकारी और व्यापारीगणों के साथ मिलकर केडी सिंह बाबू स्टेडियम से हजरतगंज चैराहे तक विशाल जुलूस निकाला।


a2लखनऊ व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बनवारी लाल कंछल ने कहा कि केंद्र सरकार कारपोरेट एवं बड़े घरानों की सरकार है। इसीलिए 34 दिनों से बंद सर्राफा मार्केट के व्यापारियों की ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है। व्यापारी नेता हरीश चंद्र अग्रवाल ने कहा कि यह सर्राफा व्यापारियों के ऊपर पहले तो दो लाख के ऊपर बिक्री पर पैन कार्ड अनिवार्य किया और अब एक्साइज डयूटी की अनिवार्यता कर दी।इस काले कानून को कतई सहा नहीं जायेगा।


व्यापारी नेता भारत भूषण गुप्ता ने कहा कि सर्राफा कारोबार छोटे छोटे कारीगरों के दम पर चलता है।यह कारीगर अनपढ होते हैं।ऐसे में सर्राफा बंदी से व्यापारी के साथ साथ इनको भी दिक्कतें होती हैं। इसके बाद भी सरकार हमारी नहीं सुन रही है।


10 करोड़ के गल्ले के व्यापार के साथ ठप रहा अरबों का व्यापार
-लखनऊ व्यापार मंडल के कार्यवाहक अध्यक्ष राजेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि एक दिवसीय महाबंद से राजधानी में 10 करोड़ के अनाज का लेन देन ठप्प रहा।
-इसके अलावा अलग अलग व्यवसायों में मिलाकर अरबों का कारोबार बंद रहा।
-सर्राफा व्यापार की बात करें तो राजधानी में एक दिन का करीब 20 करोड़ का सर्राफा व्यापार होता है।

-पिछले एक महीने में करीब 600 करोड़ का सर्राफा व्यापार ठप रहा है।
-इसके बाद भी सरकार नहीं चेत रही है।


a3ट्रेडर्स ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन
- लखनऊ व्यापार मंडल के कार्यवाहक अध्यक्ष राजेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने हमें विशाल जुलूस के साथ राजभवन जाने से रोक दिया था।
-इसके बाद करीब दोपहर 3 बजे हमें राजभवन बुलाया गया।
-वहां हमारे 17 सदस्यीय दल की राज्यपाल राम नाईक से भेंट हुई।

-उन्होंने हमारी बात को वित्त मंत्री अरुण जेटली तक पहुंचाने और ठोस निराकरण निकलवाने का आश्वासन दिया है।


ट्रेडर्स के जुलूस से लगा जाम, पुलिस प्रशासन दिखा पस्त
-केडी सिंह बाबू स्टेडियम से जैसे ही ट्रेडर्स ने विशाल जुलूस निकाला, रोड पर वाहन रेंगने लगे।
-हजरतगंज चैराहे से परिवर्तन चैक और परिवर्तन से राजभवन की ओर जाने वाला यातायात ठप-सा हो गया।
-इस दौरान व्यापारियों ने केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाते हुए वित्त मंत्री का पुतला भी फूंका।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top