Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बदायूं कांड: गैंगरेप के आरोपी सिपाही हुए बहाल, नहीं मिले अधिकार

 Tahlka News |  2016-03-17 16:52:56.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
बदायूं, 17 मार्च. देश में चर्चित बदायूं के कटरा सआदतगंज कांड में बर्खास्त हुए सिपाही सर्वेश यादव और छत्रपाल को बहाल कर दिया गया है। सीबीआइ की क्लोजर रिपोर्ट और अदालत के आरोपी न मानने पर दोनों सिपाहियों को यह राहत मिली। इसी आधार पर उनकी सेवाएं तो बहाल की गई हैं, मगर अभी अधिकार नहीं दिए गए हैं। दोनों सिपाहियों की बर्खास्तगी को निलंबन में तब्दील किया गया है।


वर्ष 2014 में 27 मई की रात उसहैत थाना क्षेत्र के गांव कटरा सआदतगंज में दो बहनों की लाश पेड़ पर लटकी मिली थीं। मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। आरोप था कि गांव के ही रहने वाले पप्पू यादव उसके भाई उर्वेश, अवधेश के अलावा कटरा सआदतगंज चौकी पर तैनात सिपाही सर्वेश यादव, छत्रपाल ने दोनों बहनों के साथ दुष्कर्म कर उनकी हत्या कर दी। पप्पू यादव मुख्य आरोपी तो अन्य सभी सह आरोपी बनाए गए।


बता दें कि मृतक बहनों के परिजनों ने सिपाहियों पर भी घटना में शामिल होने का आरोप लगाया था। दोनों सिपाहियों को घटना के बाद तीसरे दिन निलंबित किया गया। बाद में 29 मई को उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। सिपाहियों के साथ ही सभी आरोपियों की भी गिरफ्तारी की गई। सभी को जेल भेजा गया। महीनों तफ्तीश के बाद सीबीआइ ने अपनी क्लोजर रिपोर्ट अदालत में पेश की। क्लोजर रिपोर्ट दाखिल होने से पहले ही सभी आरोपियों की जमानत मंजूर हो गई। फिलहाल स्थानीय पॉक्सो अदालत में मामला विचाराधीन है, जिसमें दोनों सिपाहियों की कोई भूमिका नहीं मानी गई है। इसी आधार पर सिपाही आइजी जोन विजय सिंह मीना के सामने पेश हुए। आइजी की संस्तुति पर दोनों सिपाहियों की बर्खास्तगी निरस्त कर उन्हें निलंबित में तब्दील किया गया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top