Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

आजमगढ़ हिंसा: पटरी पर लौटी जिंदगी, 20 आरोपी गिरफ्तार, 1100 लोगों पर केस दर्ज

 Abhishek Tripathi |  2016-05-19 15:07:56.0

azamgarh-violenceतहलका न्यूज ब्यूरो
आजमगढ़. यूपी के आजमगढ़ जिले में हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में धीरे-धीरे आम जनजीवन सामान्य हो रहा है। इससे लोगों ने जहां राहत की सांस ली। वहीं, तीन दिनों से बन्द पड़ी नेट सेवाएं बहाल कर दी गई हैं। गुरुवार को दुकानें और बाजार पूरी तरह से खोले गए और आम जनों ने जमकर खरीददारी की। हालांकि, बाजारों से लेकर गांव की गलियों तक अर्धसैनिक बलों और पुलिस का फ्लैग और रूट मार्च जारी है। इसके साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दबिश लगातार जारी है। पुलिस ने अब तक करीब 20 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि पीडित लगातार मुकदमा दर्ज करा रहे हैं और पुलिस घटना की जांच कर रही है।


आजमगढ़ में भड़की हिंसा की जांच के लिए आला टीम गठित की गयी है। जांच के लिए पूर्व डीजीपी बृजलाल को हिरासत में लिया गया था। डीजीपी बृजलाल की गिरफ्तारी का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कड़ा विरोध करते हुए कहा कि सपा सरकार प्रदेश की कानून व्यवस्था को संभालने में पूरी तरह से विफल रही है।


गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र को आजमगढ़ का नया कमिश्नर व धर्मवीर को नया डीआईजी रेंज बनया गया है। वहीं एसपी अजय कुमार साहनी नये एसपी बनाये गये हैं। आजमगढ़ के हालात पर काबू पाने के लिए हिंसाग्रस्त इलाको में 2 कंपनी आरएएफ, 12 पीएसी की कंपनी


गौरतलब है कि शनिवार व रविवार को आजगढ़ में हिंसा भड़क गयी थी, दंगाइयो ने कई राउंड फायरिंग की थी जिसमें सीओ सिटी केके सरोज के हाथ में गोली लग गयी थी। हिंसा में एसडीएम और तहसीलदार व कई अधिकारी घायल हुए थे। जिसके बाद आसपास से जिलों में पुलिस बल तैनात किया गया था।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top