Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ज़मीनों पर क़ब्ज़ा करने वालों पर निशाना साधा था आज़म ने

 Sabahat Vijeta |  2016-09-07 15:23:26.0

azam-khan


लखनऊ. समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि लोकतंत्र में शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन की अनुमति है लेकिन उत्तर प्रदेश में भाजपा विरोध प्रदर्शन को अराजकता का पर्याय बनाने पर तुल गई है। जनता की समस्याओं से उसका कोई वास्ता नही दिखता है क्योंकि बेबुनियाद मुद्दे को लेकर ही वह राजधानी सहित प्रदेश भर में शांति व्यवस्था से खिलवाड़ करती नजर आती है। आज भी उसने विधान भवन के सामने अपने प्रदर्शन में विरोध की सभी लोकतांत्रिक मर्यादाओं को परे रखकर उपद्रव और हुड़दंग का प्रदर्शन किया। जानबूझकर भाजपा नेता कानून व्यवस्था को बिगाड़ने और शांति तथा सद्भाव का माहौल खराब करने की सुनियोजित साजिशों कर रहे हैं।


समाजवादी सरकार के वरिष्ठ मंत्री मो. आजम खाँ ने उन लोेगों की ओर निशाना किया था जो दूसरों की जमीनों पर कब्जा करने और कमजोरों को प्रताड़ित करने का काम कर रहे हैं। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर का हर कोई सम्मान करता है और संविधान निर्माता के रुप में उनका आदर के साथ स्मरण किया जाता है। मुलायम सिंह यादव ने तो डा. अम्बेडकर के नाम पर राजधानी की मुख्य सड़क का नामकरण करने के अलावा उनके नाम पर ग्राम योजना भी शुरु की थी। ऐसे में यह कल्पना भी नही की जा सकती कि समाजवादी सरकार में कोई डा. अम्बेडकर की प्रतिमा के प्रतिकूल कोई बयान देगा।


विपक्ष जानता है कि मो. आजम खाँ प्रखर संसदीय वक्ता, कुशल प्रशासक तथा समाज के कमजोर वर्गो के प्रबल हिमायती है। वे धर्म निरपेक्षता के लिए प्रतिबद्ध है और प्रयाग में कुंभ जैसे महापर्व पर उनके प्रबंध कौशल की विदेशों में भी सराहना हुई है। वे जमीनी नेता और डा. अम्बेडकर को सम्मान देते हैं। आजम साहब की सार्वजनिक भूमिका सदैव सामाजिक सद्भाव की रहती है।


भाजपा नेताओं को यह समझना चाहिए कि उत्तर प्रदेश में विकास की जो गतिविधियाँ तेजी से चल रही है, उसमें रोड़ा अटकाने से उन्हें विधानसभा चुनावों में कोई नतीजा हासिल नही होगा। वैचारिक रुप से डा. राम मनोहर लोहिया और डा. अम्बेडकर में जो राय बनी थी। उत्तर प्रदेश में समाजवादी सरकार उसी रास्ते पर चल रही है। दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों की हितैषी समाजवादी पार्टी ही है। भाजपा-बसपा जैसे दल सांप्रदायिकता और जातीयता की राजनीति करते हैं और इनका काम सामाजिक सद्भाव को नष्ट करना है।


प्रदेश में अराजकता और अशांति फैलाने वालों को याद रखना चाहिए कि प्रदेश में समाजवादी सरकार के रहते वे अपनी साजिशों में कभी सफल नही होंगे। प्रदेश में कानून का राज है और इससे खिलवाड़ करने वालो के साथ कड़ाई की जाएगी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रदेश को प्रगति के मार्ग पर ले जा रहे हैं। इसमें बाधक तत्वों से सख्ती से निबटा जाएगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top