Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

आजम खाॅ की जिदंगी खुली किताब है

 Sabahat Vijeta |  2016-03-26 12:12:49.0

Azam Khanलखनऊ, 26 मार्च. समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि राजनीति विचारधारा के आधार पर कुछ आदर्शो और मूल्यों के लिए होती है। इसमें नीतियों को लेकर आलोचना प्रत्यालोचना की जाती है। लेकिन इधर राजनीति विचारधारा शून्य और चरित्र हनन की हो रही है। उत्तर प्रदेश में समाजवादी सरकार की जनता में बढ़ती लोकप्रियता से कुछ तत्व इसकी छवि को बिगाड़ने में लग गए हैं। वे एक न एक मंत्री को निशाना बनाकर अपनी घटिया मानसिकता का प्रदर्शन कर रहे हैं।


पहले कुछ लोगों ने मंत्री प्रजापति को लेकर अनर्गल बयानबाजी की। अब मो. आजम खाँ को आलोचना का शिकार बनाया जा रहा है। आजम खाँ कई दशको से राजनीति में है और छात्र जीवन से अब तक उनका संघर्षपूर्ण जीवन रहा है। राजनीति में उनका जो स्थान बना है, वह उन्होने सघंर्षो से ही हासिल किया है। उनकी देशव्यापी ख्याति है।


मो. आजम खाँ संसदीय राजनीति के कुशल महारथी, प्रखर वक्ता और विपक्ष की आलोचनाओं का तुर्की-ब-तुर्की जवाब देने वालों में है। वे धर्म निरपेक्षता के प्रबल पक्षधर है। नेताजी मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व के लिए उनकी प्रतिबद्धता जगजाहिर है। खाँ की बेबाकी के सभी कायल हैं। मो. आजम खाँ के संसदीय कौशल की प्रशंसा विपक्ष के नेता विधान सभा में भी करते हैं। उनका वाक्चातुर्य विलक्षण है। उनकी प्रतिभा और योग्यता पर सवाल उठाना किसी भी तरह उचित नही। सार्वजनिक जीवन पारदर्शी होता है। मो. आजम खाॅ की जिदंगी खुली किताब है।


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मो. आजम खाँ पर भरोसा करते हैं। इलाहाबाद में कुम्भ पर्व पर उनके प्रबंधन की प्रशंसा विदेशों तक में हुई है। मो. आजम खाँ के चरित्र हनन के पीछे वे ताकते हैं जो सांप्रदायिकता के सहारे अपनी राजनीति की रोटियाँ सेंकते है। जनता झूठ को कभी प्रश्रय नही दे सकती।

  Similar Posts

Share it
Top