Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

एएमयू और बीएचयू देश के गहने हैं

 Sabahat Vijeta |  2016-10-17 17:02:59.0

gov-amu


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में लखनऊ में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र संगठन द्वारा आयोजित सर सैय्यद डे पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आज के दिवस पर संकल्प करें कि सर सैय्यद ने जो अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के रूप में जो पौधा रोपा था उसे और आगे कैसे बढ़ायें।


उनकी जन्मशती के 200 साल पूरे होने पर हमें उनके दिखाये रास्ते पर चलकर गुणवत्तायुक्त शिक्षा देने की चुनौती को स्वीकार करते हुए अपनी शिक्षण संस्थाओं को ऐसा बनाना होगा कि पूर्व की भांति विदेशों से लोग भारत में पढ़ने के लिए आयें। मुस्लिम समाज शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़े। इस दायरे को आगे बढ़ाने का काम अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र करे जिससे समाज के सभी वर्गो तक शिक्षा का लाभ पहुंचे। उन्होंने कहा कि युवा वर्ग को गुणवत्ता युक्त एवं संस्कारयुक्त शिक्षा देने के लिए प्रबुद्ध वर्ग आगे आये।


राज्यपाल ने इस अवसर पर कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के संस्थापक सर सैय्यद अहमद एवं बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के संस्थापक दोनों की आर्थिक स्थिति विश्वविद्यालय बनाने जैसी नहीं थी। लोगों के सहयोग से दोनों ने विश्वविद्यालय की स्थापना की। यह दोनों विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश का गहना हैं। यह गलत धारणा है कि अलीगढ़ विश्वविद्यालय में केवल मुस्लिम छात्र शिक्षा ग्रहण करते हैं और बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में केवल हिन्दू छात्र। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रों में हिन्दू एवं मुस्लिम वर्ग के ऐसे भी छात्र हैं जिन्होंने देश का नाम रोशन किया है। सर सैय्यद अहमद एवं पं. महामना मदन मोहन मालवीय की सोच थी कि देश को आगे बढ़ाने के लिए शिक्षा जरूरी है और दोनों ने इन विश्वविद्यालयों का नाम विदेशों तक पहुंचाया। उन्होंने कहा कि गंगा-जमुनी तहजीब का असली रूप हैं यह दोनों संस्थायें।


श्री नाईक ने कहा कि वे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के रेक्टर हैं। विभिन्न केन्द्रीय विश्वविद्यालयों का दौरा कर चुके हैं लेकिन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय जाने का अवसर नहीं मिला। उन्होंने कहा कि वे जल्दी ही अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय जायेंगे। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ने खान अब्दुल गफ्फार खान, रफी अहमद किदवई, पूर्व राष्ट्रपति जाकिर हुसैन, लाला अमरनाथ, राजा महेन्द्र सिंह जैसे व्यक्तित्व देश को दिये हैं। शिक्षा ही विकास की कुंजी है। शिक्षा से देश की ताकत नापी जाती है। उन्होंने कहा कि शिक्षा कमजोर कड़ी है, सर सैय्यद ने उसे ताकतवर बनाने का काम किया है।


इस अवसर पर राज्यपाल ने मेधावी छात्र-छात्राओं को स्मृति चिन्ह व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के सलाहकर आलोक रंजन, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छा़त्र संगठन के अध्यक्ष ए.के. माथुर, पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद, पूर्व पुलिस महानिदेशक रिजवान अहमद सहित अन्य विशिष्ट जन उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top