Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पूरी कांग्रेस सदन से वाक आउट कर गई, सोते रह गए Rahul Gandhi

 Anurag Tiwari |  2016-07-20 12:52:54.0

rahul gandhi, lok sabha, sleeping, dalit attrocity, gujarat, walkoutतहलका न्यूज़ ब्यूरो

नई दिल्ली. एक तरफ लोकसभा में गुजरात में दलितों पर हुए अत्याचार पर लोकसभा में हंगामा चल रहा था तो दूसरी तरफ कांग्रेस उपाध्यक्ष ऐसी मुद्रा में नजर आए, जिसने उन्हें मजाक का पात्र बना दिया। इसके बाद इस मुद्दे पर कांग्रेस के सांसद लोकसभा से वाकआउट कर गए। यहाँ तक कि उनकी पार्टी के एक नेता को वापस आना पड़ा और कहना पड़ा कि सभी बहार जा चुके हैं, आप भी चलिए।

इस मुद्दे पर जहां केंद्रीय मंत्रियों ने जमकर चुटकी ली तो बसपा सप्रीमो मायावती ने कहा कि राहुल गांधी के संसद में सोने से पता चलता है कि वह दलितों के प्रति कितने गंभीर है। जबकि 

कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी ने राहुल गांधी का बचाव करते हुए कहा कि बाहर बहुत गर्मी है। जब लोग संसद के अंदर पहुंचते हैं, तो चूंकि वहां एसी लगा हुआ है, इसलिए लोग अपनी आंखें बंद करके थोड़ा रिलैक्स करते हैं। वहीं कुछ कांग्रेस नेताओं ने कहा कि राहुल गांधी सर झुका कर फोन चेक कर रहे थे।


बुधवार को कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियों ने बुधवार को गुजरात के उना में दलितों के उत्पीड़न पर सरकार को घेरने को प्रयास किया। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे सहित विपक्षी सदस्यों ने एक से अधिक बार इस मुद्दे को उठाने का प्रयास किया। स्पीकर सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाने का आह्वान किया।

सुष्मिता देव और दीपेंद्र सिंह हुड्डा सहित अन्य कांग्रेसी सांसदों और वामपंथी नेताओं ने 'प्रधानमंत्री जवाब दो' के नारे लगाए।

तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों में कल्याण बनर्जी, प्रसून बनर्जी और सौगाता रॉय ने भी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। सुगाता बोस विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से पूरक प्रश्न पूछना चाहती थीं।

बीजू जनता दल (बीजद) के सदस्यों ने भी नारेबाजी की।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शून्यकाल के दौरान बयान देते हुए 11 जुलाई को उना में दलितों पर हमले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

उन्होंने हमलों की निंदा करते हुए कहा कि गुजरात पुलिस ने इस मामले में तीव्रता से कार्रवाई की है और अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top