Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

एकेटीयू में हुआ करोड़ों का विज्ञापन घोटाला, सीएम कराएँगे जांच

 Sabahat Vijeta |  2016-08-30 18:37:15.0

aktu

लखनऊ. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि में वर्ष 2014 - 2015 के दौरान विज्ञापन एजेंसी माधव चेतन द्वारा करोड़ों के फर्जीवाड़ा की शिकायत पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कार्यवाही करते हुए पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं.

इस सम्बन्ध में हेमंत पाण्डेय ने इसी 20 अगस्त को मुख्यमंत्री को भेजी शिकायत में विज्ञापन एजेंसी माधव चेतन पर फर्जी दस्तावेजों, फर्जी बिलों आदि के सहारे विश्वविद्यालय में विज्ञापन का काम लेकर करोड़ो का भुगतान लिए जाने की बात कही गई थी. इस शिकायत के मिलने के बाद कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने वित्त अधिकारी को इसकी जांच सौंपते हुए एक सप्ताह के भीतर जांच कर आख्या देने के आदेश दिए.

यह मामला वर्ष 2015 में आयोजित हुई राज्य प्रवेश परीक्षा से जुड़ा है. लखनऊ की माधव चेतन नाम की एक विज्ञापन एजेंसी ने बिना किसी निविदा के करोड़ों का काम हासिल कर लिया और फर्जी दस्तावेजों के सहारे काम लेकर अखबारों में विज्ञापन छपवाने के नाम पर लगभग दो करोड़ का भुगतान भी ले लिया. इस भुगतान में कई फर्जी बिलों को लगाए जाने का संदेह भी जताया गया है. धोखाधड़ी के सबूत छिपाने के लिए तमाम दस्तावेजों, पत्रावलियों आदि को भी गायब करा दिए जाने की बात भी कही जा रही है.

वर्ष 2012 में निविदा के माध्यम से और निविदा शर्तों पर खरी उतरने वाली विज्ञापन एजेंसी को 60 लाख रूपये का काम मिला जबकि एक साल बाद ही माधव चेतन विज्ञापन एजेंसी जो निविदा की शर्तों के मानक ही नहीं पूरा करती थी उसने 1.83 करोड़ का काम हथिया लिया. एक ही काम के लिए एक साल में भुगतान बढ़कर 300% तक पहुंच गया. इससे ज़ाहिर होता है कि मामला दस्तावेजों में हेराफेरी के साथ सरकारी धन की लूट का भी था जिन समाचार पत्रों को आम जनता ने नाम भी नहीं सुने होंगे और जिनका नियमित रूप से छापना भी संदिग्ध है. उन्हें लाखों के विज्ञापन दे दिए गये.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top