Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अखिलेश ने कहा-पर्यावरण के नुकसान की भरपाई करना सभी की जिम्मेदारी

 Girish Tiwari |  2016-12-22 14:51:06.0

akhilesh

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि पर्यावरण को हुए नुकसान की भरपाई करना सभी की जिम्मेदारी है। यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि नदियां प्रदूषित न हों और वे साफ-सुथरी रहें। समाजवादी सरकार ने इसके लिए काम किया है। समाजवादियों की यह कोशिश रही है कि भावी पीढ़ी को साफ-सुथरी नदियां एवं बेहतर पर्यावरण मिले।


मुख्यमंत्री आज यहां लोक भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में वाराणसी शहर में वरुणा नदी के चैनलाइजेशन एवं तटीय विकास परियोजना के तहत कि0मी0 9.75 से 10.25 तक निर्मित माॅडल कार्यों के लोकार्पण अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने जनपद महाराजगंज की तहसील मुख्यालय फरेन्दा के नये आवासीय भवनों का लोकार्पण तथा लखनऊ स्थित डाॅ0 शकुन्लता मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय परिसर में निःशक्त जन हेतु विशिष्ट स्टेडियम एवं विभिन्न जनपदों में स्थापित होने वाले 06 समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालयों का शिलान्यास भी किया।


यह समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालय जनपद मिर्जापुर की तहसील मड़िहान के ग्राम पटहराकला, जनपद गाजियाबाद के मसूरी, जनपद महाराजगंज के ग्राम धनेवा, जनपद एटा के ग्राम जलेसर बाहरचुंगी, जनपद बुलन्दशहर के ग्राम मूडीबकापुर तथा जनपद प्रतापगढ़ की तहसील रानीगंज के ग्राम चलाकपुर में बनाए जाएंगे। निःशक्त जन हेतु विशिष्ट स्टेडियम प्रदेश का पहला स्टेडियम होगा। यहां निःशक्त खिलाड़ियों के लिए बाधारहित वातावरण सृजित किया जाएगा। परियोजना की अनुमानित लागत 50.66 करोड़ रुपए है।


इस अवसर पर वाराणसी वासियों को बधाई देते हुए सीएम यादव ने कहा कि वाराणसी में वरुणा नदी के चैनलाइजेशन एवं तटीय विकास परियोजना के तहत किमी0 9.75 से 10.25 का विकास माॅडल के तौर पर कराया गया है, जिसका लोकार्पण किया जा रहा है। परियोजना के तहत वाराणसी शहर में 10 कि0मी0 से अधिक लम्बाई में विभिन्न स्थानों पर नदी के चैनलाइजेशन के साथ-साथ 05 घाटों एव 07 सीढ़ियों का निर्माण एवं पुनरुद्धार, शहर के अंदर नदी के दोनों तरफ फुटपाथ, रेलिंग एवं प्रकाश व्यवस्था का कार्य कराया जाना है। साथ ही, फुटपाथ और घाटों पर प्रकाश व्यवस्था के लिए सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करके हाईमास्ट तथा स्ट्रीट लाइट का काम भी कराया जाएगा।


akhilesh


सीएम ने यूपी विधान पुस्तकालय के उन्नयन कार्यों का किया लोकार्पण


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज विधान भवन स्थित उत्तर प्रदेश विधान पुस्तकालय के उन्नयन कार्यों का लोकार्पण विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय की उपस्थिति में किया।


इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा पुस्तकालय में संग्रहीत पुस्तकों एवं अन्य साहित्य का अवलोकन किया गया। उन्होंने विधान मण्डल की वर्ष 1893 की हस्तलिखित कार्यवाहियों, हाउस ऑफ़ लाॅड्र्स एवं हाउस ऑफ़ कॉमन्स, स्वतंत्रता से पूर्व की कार्यवाहियां तथा ऐतिहासिक महत्व के अनेक साहित्यों का अवलोकन करते हुए पुस्तकालय के उत्कृष्ट तथा समृद्ध संकलन एवं संग्रहों पर हर्ष व्यक्त किया।


सीएम यादव ने पुस्तकालय के उन्नयन कार्य के अन्तर्गत किये गये ऑटोमेशन कार्य तथा विधान सभा की कार्यवाहियों के डिजीटाइजेशन कार्य को सराहते हुए संसदीय प्रणाली में आधुनिकतम तकनीकी के उपयोग को उत्तर प्रदेश विधान सभा का ऐतिहासिक कदम बताया।


उन्होंने कहा कि विधायकगण व अन्य जनप्रतिनिधि इस सम्पन्न पुस्तकालय का अध्ययन कर वृहद ज्ञान अर्जित कर सकते है।


इस अवसर पर संसदीय कार्यमंत्री मोहम्मद आज़म खां सहित अन्य मंत्रीगण, विधायकगण, प्रमुख सचिव विधान सभा प्रदीप कुमार दुबे भी उपस्थित थे।


द्वितीय अनुपूरक मांगों को विधान सभा ने किया पारित


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा गत दिवस विधान सभा में वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए प्रस्तुत किए गए 1683.11 करोड़ रुपये के द्वितीय अनुपूरक मांगों को विधान सभा ने आज पारित कर दिया। साथ ही, विधान सभा ने वित्तीय वर्ष 2017-18 के प्रथम पांच माह अर्थात अप्रैल, मई, जून, जुलाई व अगस्त 2017 में होने वाले सम्भावित वचनबद्ध व्यय के लिए एक लाख चैतीस हजार करोड़ रुपए के लेखानुदान को भी मंजूरी प्रदान कर दी।


akhilesh


अखिलेश ने चंचलापति दास से की भेंट


अखिलेश यादव से आज यहां उनके सरकारी आवास पर ‘अक्षयपात्र फाउण्डेशन’ के वाइस चेयरमैन चंचलापति दास ने भेंट की।


मुलाकात के दौरान चंचलापति दास ने मुख्यमंत्री से कहा कि अक्षयपात्र संस्था वृन्दावन में यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने के लिए, टैªफिक कन्जेशन दूर करने में राज्य सरकार के प्रयासों में सहयोग करना चाहती है।


मुख्यमंत्री ने संस्था की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि वृन्दावन एक प्रमुख धार्मिक स्थल है, जहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु और पर्यटक प्रतिदिन आते हैं। वृन्दावन में आने वालों को सुगम आवागमन उपलब्ध होने से लोगों को सुविधा होगी। उन्होंने भरोसा जताया कि राज्य सरकार तथा अक्षयपात्र संस्था के सम्मिलित प्रयासों से वृन्दावन में टैªफिक कन्जेशन दूर होगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top