Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

आगरा थीम पार्क परियोजना से यूपी में पर्यटन बढ़ेगा

 Sabahat Vijeta |  2016-05-18 15:04:06.0


  • थीम पार्क भारत की ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक विरासत को जीवन्त रूप प्रदान करेगा

  • देश की इस अभिनव परियोजना से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार के नये अवसर सृजित होंगे

  • लगभग 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजना से करीब 12 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा

  • यूपीएसआईडीसी एवं किंगडम कम्पनी के बीच एमओयू सम्पन्न


MOUलखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि आगरा थीम पार्क परियोजना से प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। इस थीम पार्क के माध्यम से भारत की ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक विरासत को जीवन्त रूप प्रदान करने का काम किया जाएगा, जिससे देश के इतिहास एवं संस्कृति को जानने के इच्छुक विद्यार्थियों, पर्यटकों एवं शोधार्थियों को मदद मिलेगी। इसके जरिए पूरी दुनिया को भारत और विशेष रूप से उत्तर प्रदेश के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी भी मिलेगी। थीम पार्क को देश की एक अभिनव परियोजना बताते हुए उन्होंने कहा कि इससे प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार के नये अवसर सृजित होंगे।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आगरा थीम पार्क परियोजना के सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश लघु उद्योग विकास निगम (यूपीएसआईडीसी) एवं किंगडम कम्पनी के मध्य हस्ताक्षरित किए गए एमओयू के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। यूपीएसआईडीसी की ओर से प्रबन्ध निदेशक मनोज सिंह तथा किंगडम कम्पनी की ओर से फिल्म अभिनेता संजय खान ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए। श्री यादव ने कहा कि इस परियोजना में कई आधारभूत सुविधाएं प्रदान की जाएंगी, जिनसे आगरा में आने वाले पर्यटकों को इस पार्क को देखने की उत्सुकता पैदा होगी। फलस्वरूप आगरा एवं इसके आसपास के क्षेत्रों की आर्थिक गतिविधि में बढ़ोत्तरी होगी। उन्होंने कहा कि यह परियोजना किंगडम कम्पनी एवं राज्य सरकार के संयुक्त तत्वावधान में विकसित की जाएगी।
संजय खान ने आगरा थीम पार्क को मुख्यमंत्री की परिकल्पना का परिणाम बताते हुए कहा कि यह उत्तर प्रदेश के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। लगभग 10 हजार करोड़ रुपए की इस परियोजना में 7 शहरों की थीम वार स्थापना की जाएगी, जिनका भ्रमण मोनो रेल के माध्यम से किया जा सकेगा। इनमें भारत की प्राचीन, मध्ययुगीन एवं आधुनिक इतिहास एवं सांस्कृतिक विरासत की झलक देखने को मिलेगी, जिसमें मोहन जोदड़ो, पाटलीपुत्र, रामायण एवं महाभारत काल की भी जानकारी शामिल रहेगी। इससे पूरी दुनिया में राज्य की एक अलग पहचान बनेगी। उन्होंने कहा कि 10 वर्षों में इस परियोजना का चार चरणों में विकास किया जाएगा। परियोजना का पहला फेज़ करीब 3 साल में पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के लिए आसानी से निवेश उपलब्ध हो जाएगा।
प्रमुख सचिव सूचना एवं पर्यटन नवनीत सहगल ने कहा कि परियोजना के पूरा हो जाने से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। अभी तक आगरा आने वाले पर्यटक उसी दिन जयपुर या किसी अन्य शहर चले जाते हैं। थीम पार्क के बन जाने पर ऐसा नहीं होगा, क्योंकि उन्हें आगरा में ही एक अन्य आकर्षण उपलब्ध रहेगा। इसी प्रकार आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से भी पर्यटन को गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की नई फिल्म नीति से भी पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। समय एवं जरूरत के हिसाब से इस नीति में और अधिक संशोधन करके इसे व्यावहारिक स्वरूप प्रदान करने का प्रयास किया जाएगा।
इससे पूर्व, यूपीएसआईडीसी के प्रबन्ध निदेशक मनोज सिंह ने बताया कि परियोजना में निगम को प्रदेश सरकार की तरफ से संयुक्त रूप से काम करने का मौका प्रदान किया गया है। आगरा रिंग रोड पर एक हजार एकड़ में विकसित हो रहे इस थीम पार्क में तमाम अन्य सुविधाओं के अलावा ‘स्वयंवर’ नामक पण्डाल भी स्थापित किया जाएगा, जहां थीम आधारित विवाह सम्पन्न हो सकेंगे। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के लिए जरूरी एनओसी प्राप्त की जा चुकी है। परियोजना को पूरी तरह से पर्यावरण फ्रैण्डली परियोजना के रूप में विकसित किया जाएगा। इससे करीब 12 हजार लोगों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार प्राप्त होगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top