Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

90 हजार मेधावी छात्राओं को मिला ‘कन्या विद्या धन

 Sabahat Vijeta |  2016-08-17 13:50:15.0

kanya vidya dhan




  • रक्षा बन्धन से पहले 90 हजार मेधावी छात्राओं को ‘कन्या विद्या धन योजना’ के तहत, 30-30 हजार रुपये का चेक वितरित किया गया: मुख्यमंत्री

  • इस धनराशि से मेधावी छात्राओं को आगे की पढ़ाई जारी रखने में मदद मिलेगी

  • आगामी वर्षाें में वित्तीय संसाधन को देखते हुए कन्या विद्या धन योजना की धनराशि को बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा

  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे ग्रामीण एवं शहरी अर्थव्यवस्था को जोड़ने का काम करेगी

  • मुख्यमंत्री ने ‘कन्या विद्या धन वितरण-2016’ समारोह को सम्बोधित किया


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि रक्षा बन्धन से पूर्व प्रदेश की करीब 90 हजार मेधावी छात्राओं को कन्या विद्या धन योजना के तहत, 30-30 हजार रुपये का चेक वितरित किया जा चुका है। इस योजना के तहत प्राप्त धनराशि से मेधावी छात्राओं को अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि यद्यपि इस योजना को भ्रष्टाचार रहित ढंग से लागू करने का प्रयास किया गया है, इसके बावजूद यदि कहीं से शिकायत प्राप्त होती है तो जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।


मुख्यमंत्री आज यहां उ.प्र. संगीत नाटक अकादमी के सभागार में आयोजित ‘कन्या विद्या धन वितरण-2016’ समारोह को सम्बोधित कर रहे थे, जिसमें योजना के तहत जनपद लखनऊ के लिए इण्टरमीडिएट/समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण कुल 2,023 मेधावी लाभार्थी छात्राओं में से 554 को चेक वितरित किया गया। शेष छात्राओं को एक अन्य कार्यक्रम में चेक वितरित किया गया। इस मौके पर सांसद श्रीमती डिम्पल यादव भी उपस्थित थीं।


kanya vidya dhan-2मुख्यमंत्री ने स्वयं 45 छात्राओं को चेक वितरित करते हुए कहा कि तत्कालीन समाजवादी सरकार के कार्यकाल में शुरु की गयी ‘कन्या विद्या धन योजना’ की धनराशि को वर्तमान राज्य सरकार ने 20 हजार रुपये से बढ़ाकर 30 हजार रुपये करने का काम किया है। आगामी वर्षाें में वित्तीय संसाधन को देखते हुए इस धनराशि में और अधिक बढ़ोत्तरी करने का प्रयास किया जाएगा।


श्री यादव ने कहा कि जिस प्रकार से कन्या विद्या धन योजना के माध्यम से प्रदेश की मेधावी छात्राओं को उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित करने का काम किया जा रहा है। उसी प्रकार से निःशुल्क लैपटाॅप वितरित कर छात्र-छात्राओं को तकनीकी रूप से उच्च शिक्षा के लिए सशक्त बनाया जा रहा है। उन्होंने राज्य सरकार की निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना को दुनिया की सबसे बड़ी निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना बताते हुए इसके आलोचकों की समझ पर सवाल खड़ा किया। उन्होंने कहा कि यह योजना आगामी वर्षाें में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था एवं ग्रामीण परिवेश को आमूल-चूल रूप से बदल देगी।


kanya vidya dhan-3समाजवादी सरकार द्वारा संचालित अन्य महत्वपूर्ण परियोजनाओं का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे केवल 2 नगरों को जोड़ने वाली परियोजना ही नहीं है, बल्कि यह ग्रामीण एवं शहरी अर्थव्यवस्था को जोड़ने का काम करेगी। इससे डोर-टू-डोर कनेक्टिविटी को बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना के सम्भावित परिणामों को ध्यान में रखते हुए ही राज्य सरकार ने पूर्वांचल समाजवादी एक्सप्रेस-वे परियोजना पर काम शुरु किया है। उन्होंने अमेरिका का उदाहरण देते हुए कहा कि पहले अमेरिका ने सड़कें बनायी फिर सड़कों के माध्यम से ही अमेरिका विकसित राष्ट्र बना।


मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां राज्य सरकार नगरों में साइकिल ट्रैक बनाने का काम कर रही है, वहीं सार्वजनिक यातायात में सुधार के लिए लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, इलाहाबाद सहित कई नगरों में मेट्रो रेल परियोजना पर भी काम कर रही है। इससे प्रदेश की जनता एवं विशेष रूप से नौजवानों को काफी लाभ होगा। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में जेण्डर इक्वल्टि की बात की जाती है। लेकिन प्रदेश सरकार इस क्षेत्र में अपनी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जो काम किया है वह अन्य सरकारों के लिए एक चुनौती है।


श्री यादव ने कहा कि जनता से किये गये वादों को पूरा करने की समाजवादी प्रतिबद्धता से अन्य राजनैतिक दलों में घबराहट है। ‘1090’ वीमेन पावर लाइन योजना के माध्यम से लाखों महिलाओं एवं छात्राओं को समय पर सहायता पहुंचायी गयी। इसी प्रकार, ब्रिटेन एवं अमेरिका जैसे देशों की तर्ज पर डायल ‘100’ योजना शुरु होने जा रही है, जिसके तहत जरूरत पड़ने पर 10 से 15 मिनट में पुलिस मौके पर पहुंच जाएगी। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार ने रक्षा बन्धन से पूर्व वृक्षा-बन्धन का कार्यक्रम आयोजित किया, जिसके तहत एक दिन में 5 करोड़ से अधिक पौधे रोपित कर राज्य सरकार ने पूरी दुनिया में एक रिकाॅर्ड कायम किया है। निश्चित रूप से आगामी वर्षाें में राज्य सरकार के इस कार्य का असर प्रदेश के पर्यावरण पर सकारात्मक रूप से दिखायी पड़ेगा।


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए माध्यमिक शिक्षा मंत्री बलराम यादव ने कहा कि देश की यह पहली राज्य सरकार है, जिसने घोषणा-पत्र के आधार पर बहुमत प्राप्त किया और घोषणा-पत्र को पूरी तरह लागू किया। उन्होंने कहा कि कन्या विद्या धन योजना के तहत उ.प्र. माध्यमिक शिक्षा परिषद, सी.बी.एस.ई., आई.सी.एस.ई. के साथ-साथ उ.प्र. मदरसा परिषद तथा उ.प्र. संस्कृत शिक्षा परिषद की इण्टरमीडिएट स्तर की उत्तीर्ण मेधावी छात्राओं को लाभान्वित किया जा रहा है। कार्यक्रम को समाज कल्याण मंत्री राम गोविन्द चौधरी एवं मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन ने भी सम्बोधित किया।


मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने इस योजना के प्रति मुख्यमंत्री की प्रतिबद्धता का उल्लेख करते हुए कहा कि कन्या विद्या धन जैसी योजना केवल उत्तर प्रदेश में ही चलायी जा रही है। उन्होंने कहा कि आज ही मंत्रिपरिषद की बैठक में प्रदेश के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को ड्रेस, एवं पुस्तकों की तरह निःशुल्क स्कूल बैग देने का निर्णय लिया गया है, जिससे करीब 1 करोड़ 85 लाख बच्चों को सीधे लाभ पहुंचेगा।


इस मौके पर राज्य सरकार के मंत्री अहमद हसन, राजेन्द्र चौधरी, दुर्गा प्रसाद यादव, रविदास मेहरोत्रा, साहब सिंह सैनी, डाॅ. एस.पी. यादव सहित कई जनप्रतिनिधि, प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा जितेन्द्र कुमार एवं अन्य अधिकारी गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top