Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चुनाव आयोग द्वारा किये जा रहे भेदभाव के विरोध में जुटे प्रदेश से तमाम निर्दलीय उम्मीदवार

 Vikas Tiwari |  2016-08-22 15:28:11.0

चुनाव आयोगलखनऊ. चुनाव आयोग के प्रदेश कार्यालय के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को अवसर की समता के लिए लोकतंत्र मुक्ति आन्दोलन के तहत तमाम निर्दलियों नें घेरा और कहा यूपी में अभी विधान सभा चुनाव की अधिसूचना नहीं जारी हुई है फिर भी दल प्रतिनिधि अपने आरक्षित चुनाव-चिन्ह हांथी, कमल, साईकिल इत्यादि को वाल पेंटिंग एवं कई अन्य साधनों के साथ लगातार प्रचार प्रसार कर रहे हैं परन्तु निर्दलीय प्रत्याशी को उसका चुनाव-चिन्ह नहीं मालूम है और उसे चुनाव तिथि के कुछ दिन पहले चुनाव-चिन्ह आयोग द्वारा मिलेगा तब वो प्रचार कर सकेगा मात्र कुछ दिनों तक वो भी वाल पेंटिंग तो बिलकुल नहीं कर सकेगा ये प्रत्याशियों के बीच बड़ा भेदभाव और संविधान द्वारा प्रदत्त अवसर की समता का हनन है जिसका जिम्मेदार चुनाव आयोग है |


चुनाव आयोग के बाद लोकतंत्र मुक्ति मार्च निकालकर गए राजभवन जहाँ महामहिम से मिलकर संविधान द्वारा प्रदत्त बराबरी के मूल अधिकार की रक्षा की गुहार करना चाहते थे पर अधिकारीयों नें मना कर दिया जिसपर सभी लोग राजभवन के गेट पर धरने पे बैठ गए | 3 घंटे बाद राज्यपाल नें 10 लोगों के प्रतिनिधि मंडल से मिलने को बुलाया, प्रतिनिधिमंडल नें राज्यपाल से मिलकर अधिकार की रक्षा सुनिश्चित करानें की अपील की जिस पर महामहिम नें संविधान की रक्षा की प्रतिबद्धता बताते हुए आश्वस्त किया |

लोकतंत्र मुक्ति आन्दोलन के संयोजक नें कहा कि बराबरी का अवसर देने के लिए चुनाव आयोग पार्टी प्रत्याशियों के आरक्षित चुनाव-चिन्हों पंजा, कमल, हांथी, साईकिल, इत्यादि का प्रचार तुरंत रोके अथवा निर्दलीय प्रत्याशियों को भी अभी चुनाव-चिन्ह दे जिससे वो भी प्रचार कर सकें | ऐसी किसी चुनाव, परीक्षा या प्रतियोगिता की कल्पना नहीं हो सकती जिसमें किसी को पहले से अवसर मिल जाये जिससे उसे बढ़त मिले और किसी अन्य को बाद में मौका दिया जाये जैसा कि अभी चुनाव प्रचार करनें में हो रहा है जिसमें पार्टी प्रयाशियों को अभी से प्रचार का मौका है जो उन्हें बढ़त देती है |

लोकतंत्र मुक्ति मार्च में बलिया से आये घनश्याम सिंह, अलीगढ से सुनील दत्त शर्मा, गाजीपुर से लक्ष्मण प्रसाद, गोंडा से अजीत नारायण, लखनऊ से कान्ति पाण्डेय, बहराइच से सुधीर तिवारी, लखनऊ से सतीश श्रीवास्तव, घाटमपुर से अमित सचान, मिर्जापुर से देवेश तिवारी, कानपूर से रामनारायण सहित तमाम लोग शामिल थे |

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top